date_range 24 Feb, 2020

नकली नोट बनाने के गिरोह का भंडाफोड


रघुकुल कम्प्यूटर सेंटर पर बनाये जा रहे थे जाली नोट नकली नोट छाप रहे दो भाइयों को किया गिरफ्तार

छपी हुई नकली करेंसी सहित कंप्यूटर व प्रिंटर किये जप्तगिरोह पर करीब एक महीने से पुलिस रख रही थी नजरसीकर जयपुर सहित कई शहरों में कर चुके हैं जाली नोट सप्लाई

पुलिस ने बड़े गिरोह से तार जुड़े होने की जताई सम्भावना

सीकर जिले की खंडेला थाना पुलिस ने एक महिने की सतत निगरानी के बाद आज बड़ी कार्रवाई करते हुए बाईपास रोड स्थित रघुकुल कंप्यूटर सेंटर पर छापा मारकर जाली नोट छाप रहे हुए दो सगे भाइयों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से कंप्यूटर, प्रिंटर, जाली नोट छापने का कागज, नोट पैक करने की पॉलीथिन सहित काफी मात्रा में छपे हुए जाली नोट बरामद किए हैं। थानाधिकारी हिम्मत सिंह ने बताया की मुखबिर की सूचना पर टीम गठित कर कम्प्यूटर सेन्टर पर छापा मारा गया। दोनों आरोपी रात्रि में अपने कंप्यूटर सेंटर पर नकली नोट छाप रहे थे। जिस पर पुलिस ने कंप्यूटर सेंटर पर कार्रवाई कर जाली नोट छापने के उपकरण व छपे हुए नोट जप्त कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी सगे भाई है। जो काफी दिनों से जाली नोट छापने के कारोबार से जुड़े हुये हैं। गिरोह का मास्टरमाइंड रघुकुल कंप्यूटर सेंटर संचालक राम भगत सैनी है। जो अपने भाई संतोष सैनी के साथ मिलकर नकली नोट छाप कर उन्हें बाजार तक पहुंचाने का कार्य करता है। गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों से पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में भी पूछताछ कर रही है। गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों से प्रारंभिक पूछताछ में लाखों रुपए के जाली नोट छाप कर बाजार में चलाए जाने की बात स्वीकार की है। आरोपियों के द्वारा छापे के नकली नोटों को जयपुर, सीकर, रींगस, श्रीमाधोपुर व नीम का थाना इलाके में काफी दिनों से चलाए जाने की बात भी सामने आई है। दोनों को आज न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें पुलिस रिमांड पर भेजा गया है। फिलहाल पुलिस जाली नोट बनाने व सप्लाई करने से जुड़े अन्य सहयोगीयों के बारे में पूछताछ करने में जुटी है। पुलिस ने दोनों आरोपियों के तार किसी बड़े गिरोह से जुड़े होने की भी संभावना जताई है।
हिम्मत सिंह, थानाधिकारी, खंडेला

Write your comment

add