date_range 18 Aug, 2019

#Budget2019: मोदी सरकार का दूसरा सबसे बड़ा दांव, 5 लाख रुपये तक सालाना सैलरी पर कोई टैक्स नहीं


व्यक्तिगत करदाताओं को दूसरा तोहफा देते हुए वित्त मंत्री ने स्टैंडर्ड टैक्स सीमा बढ़ाकर 50000 रुपये करने की घोषणा की।
एफडी के ब्याज पर 40,000 रुपये तक टैक्स नहीं।

- टैक्स में छूट के बाद संसद में लगे मोदी मोदी के नारे।
- बिल्डर को बिना बिके घर पर 2 साल तक नहीं लगेगा टैक्स
- महिलाओं को बैक में 40 हजार तक के ब्याज पर नहीं लगेगा टैक्स

- डेढ़ लाख तक के निवेश कर कोई टैक्स नहीं।
- टैक्स में छूट से मध्यम वर्ग के 3 करोड़ लोगों को फायदा।

- टैक्स सीमा बढ़ाकर 5 लाख रुपए की।
- 5 लाख तक की आय वालों को पूरी छूट

5 लाख रुपए तक की आमदनी रखने वाले इंडिविजुअल टैक्स पेयर्स का पूरा टैक्स फ्री होगा। डेढ़ लाख रुपए का इन्वेस्टमेंट करने पर साढ़े छह लाख रुपए तक आपको कोई टैक्स नहीं देना होगा।

- राष्‍ट्रनिमार्ण के लिए हम करदाताओं का शुक्रिया अदा करते हैं।
- आपके टैक्स से गरीबों को बिजली कनेक्शन मिल रहे हैं।
- आपके टैक्स का विकास होता है।
- 2022 तक पूर्ण स्वदेशी उपग्रह अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे।
- 5 साल में भारत उपग्रह प्रक्षेपण का बड़ा केंद्र बना।
- 10 फीसदी से महंगाई 4 प्रतिशत पर लाए।
- वित्त वर्ष 2019-20 में वित्तिय घाटा जीडीपी का 3 प्रतिशत रहने का अनुमान
- इस साल जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ के पार।
- घर खरीदने वालों पर भी जीएसटी का बोझ कम करने की कोशिश।
- ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स टैक्स कम करने का प्रयास कर रहा है।

- जीएसटी अब तक का सबसे क्रांतिकारी कदम।
- नई कंपनियों को 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स देना होगा।
- मुद्रा योजना के तरह 15.56 करोड़ के ऋण

Write your comment

add