जन्मदिन विशेष: तारीख-दर-तारीख जानिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अनोखा जीवन सफर

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज जन्मदिन है। पीएम 70 साल के पूरे हो गए हैं और उन्होंने अपने बचपन से लेकर पीएम बनने तक के दौर में काफी कुछ देखा है। जानिए उन तमाम खास बातों के बारे में यहां।

जन्मदिन विशेष: तारीख-दर-तारीख जानिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अनोखा जीवन सफर
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (इंस्टाग्राम)

किसी भी देश को मजबूत और ताकतवर बनाने में सबसे बड़ा हाथ होता है वहां के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और राजनेताओं। लेकिन प्रधानमंत्री बेहद ही अहम भूमिका निभाते हुए कई ऐसे निर्णय लेते हैं जिसका असर पूरे देश के आने वाले भविष्य पर भी पड़ता है। वैसे इसमें कोई शक नहीं है कि भारत में कई बार ऐसा देखा जा चुका है। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई ऐसे निर्णय देश के हित में लिए जिसका आने वाला रिजल्ट काफी शानदार होने वाला है और रहा है।

वैसे पीएम नरेंद्र मोदी आजकल की यंग जनरेशन को काफी ज्यादा प्रभावित करते हुए नजर आते हैं। चाहे बात करें उनके द्वारा दिए गए भाषण की या फिर उनके पहनावे की। लेकिन एक संघ प्रचारक से प्रधानमंत्री बनने तक का सफर उनका इतना आसान नहीं रहा। इस दौरान उन्होंने कई सारी चीजों का अनुभव किया और साहस को बनाए रखते हुए अपना काम किया। आइए नजर डालते हैं पीएम नरेंद्र मोदी के जिंदगी से जुड़ी कुछ उन खास किस्सों पर जो आप शायद ही जानते होंगे। क्योंकि आज पीएम नरेंद्र मोदी 70 साल के हो गए हैं और इन 70 सालों में न जाने उन्होंने क्या-क्या अनुभव किया जोकि ज्यादातर लोगों को नहीं पता है।


बचपन में जब रह गया सपना अधूरा

- 17 सितंबर 1950 के दिन पीएम नरेंद्र मोदी का जन्म एक निर्धन परिवार में हुआ था

-भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा नाम नरेंद्र दामोदरदास मोदी है

-  पिता स्थानीय रेलवे स्टेशन पर एक चाय के स्टाल पर बेचते थे चाय, पीएम करते थे मदद

- एक अच्छे छात्र भी रहे पीएम, स्कूल के दिनों से ही बहस करने में थे माहिर

- पुस्कालय में समय बिताना और तैराकी करने का था बेहद शौक

- भारतीय सेना का हिस्सा बनकर देश की सेवा करना चाहते थे पीएम मोदी, लेकिन परिजन नहीं थे मंजूर

- जामनगर में एक सैनिक स्कल में लेना चाहा एडमिशन तो फीस के चलते रह गया सपना अधूरा


जब पद को लेकर उठने लगे सवाल

- शुरु से ही पीएम नरेंद्र मोदी का झुकाव संघ की तरफ रहा था।

- 3 अक्टूबर, 1972 को हिंदू राष्ट्रवादी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में हुए शामिल हुए

- 1975 में आपातकाल के दौरान निभाई अहम भूमिका

-1987 में मुख्य राजनीतिक धारा में किया प्रवेश, गुजरात इकाई के संगठन सचिव के रूप में भाजपा में हुए शामिल

-वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी की 1990 में हुई सोमनाथ-अयोध्या रथ के अंदर पीएम ने अहम भूमिका निभाई

- 1995 में बने बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव, 5 जनवरी 1998 को भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बने 

- इसके बाद जब केशुभाई पटेल 2001 में अपने सीएम पद से हटे तो मोदी ने गुजरात की भागदौड़ संभाली

-सीएम बनने के पांच महीने बाद हुआ गोधरा कांड  और 2002 में मुस्लमानों के खिलाफ भड़के दंगे

-गुजरात की स्थिति देखकर तत्कालीनी पीएम अटल बिहारी वाजपेयी गुजरात पहुंचे और मोदी को दी राजधर्म निभाने की सलाह

- गुजरात दंगों के बाद पीएम के पद पर मंडराने लगा खतरा लेकिन तत्कालीन उप-प्रधानमंत्री ने दिया साथ

- 2002 के दिसंबर में हुए विधानसभा चुनावों में जीते पीएम नरेंद्र मोदी

- 2007 में विधानसभा चुनावों और 2012 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी गुजरात विधानसभा चुनावों को जीतने में सफल रही


2009 से 2020  तक ऐसे गुजरा वक्त

- 2009 से पीएम नरेंद्र मोदी का राजनीतिक कद काफी ऊंचा होता चल गया। उस समय जब उन्होंने गुजरात में दो विधानसभा चुनावों पर जीत हासिल की 

- 2012 में तीसरी बार पीएम नरेंद्र मोदी ने विधानसभा चुनाव जीता

- 2013 में नरेंद्र मोदी को बीजेपी संसदीय बोर्ड में नियुक्त किया गया और सेंट्रल इलेक्शन कैंपेन कमिटी का चेयरमैन बनाया गया

- 2014 में लोकसभा चुनाव जीतकर बने भारत के प्रधानमंत्री 

- 27 से 30 सितंबर, 2014 को मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में संयुक्त राज्य अमेरिका की अपनी पहली यात्रा की और राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ मुलाकात की।

-25 से 27 जनवरी 2015 में ओबामा दो बार भारत आने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बने। तीन दिवसीय यात्रा के दौरान ओबामा और मोदी ने एक नागरिक परमाणु समझौते पर बातचीत की, दोनों देशों के बीच दस साल का रक्षा सहयोग समझौता हुआ

- 25 दिसंबर, 2015 को मोदी ने पाकिस्तान का दौरा किया और प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की। यह पहली बार है जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने लगभग 12 वर्षों में पाकिस्तान का दौरा किया 

-8 जून, 2016 को अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सेशन को संबोधित करते हुए मोदी ने अमेरिका-भारत संबंधों की निरंतर वृद्धि के बारे में  बात की

-26 जून 2017 को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ व्हाइट हाउस में पहली बार उनकी बैठक हुई

- 4 जुलाई 2017 में भारत और इजरायल के बीच 25 साल के राजनयिक संबंधों को चिह्नित करने के लिए पीएम इजरायल पहुंचे

- 23 मई 2019 में फिर से बीजेपी ने 303 सीटें जीतकर जीत हासिल की

- 30 मई 2029 में उन्होंने फिर से पीएम के पद के लिए शपथ ग्रहण की

-8 अगस्त, 2019 को मोदी ने अपनी बात रखते हुए दावा किया कि कश्मीर की स्वायत्त स्थिति को रद्द करने से स्थिरता को बढ़ावा मिलेगा, भ्रष्टाचार कम होगा और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। वहीं, पाकिस्तान के विदेश मंत्री का कहना था कि देश सतर्क रहेगा, लेकिन सैन्य विकल्पों पर विचार नहीं किया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र ने क्षेत्र में मानवाधिकारों का सम्मान करते हुए इस मुद्दे को शांति से सुलझाने के लिए दोनों देशों को बुलाकर एक बयान जारी किया।

- 2019 में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून बनाकर लाखों लोगों की भारत की नागरिकता मिलने का रास्ता साफ कर दिया है। नागरिकता संशोधन कानून के तहत पाकिस्तान,बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अल्पसंख्यकों को भारत में नागरिकता का अधिकार मिल गया।

- 15 से अधिक राज्यों में इसको लेकर दंगे हुए और काफी विवाद हुआ लेकिन पीएम मोदी ने इसको लेकर लोगों को काफी समझाया

- 3 सितंबर 2020 को भारत के पीएम नरेंद्र के ट्विटर अकाउंट को कुछ देर के लिए हैक कर दिया था। जिसके जरिए हैकर ने बिटक्वॉइन की मांग रखी थी। आपको बता दें कि उनके इस अकाउंट के 25 लाख फॉलोवर्स हैं।


पीएम नरेंद्र मोदी की ये भी है खासियत

- प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू और राजीव गांधी के बाद देश के सबसे स्टाइलिश और स्मार्ट पीएम हैं नरेंद्र मोदी

- हमेशा चुस्त-दुरूस्त, हमेशा सजग और काम करने वाले रहे हैं पीएम नरेंद्र मोदी

- 8 या 10 नहीं बल्कि करते हैं पूरे 18 घंटे काम, चेहरे पर नहीं दिखती है कोई थकान

- अपने जन्मदिन पर मां का आशीर्वाद लेना नहीं भूलते हैं पीएम नरेंद्र मोदी

यहां देखिए पीएम नरेंद्र मोदी से जुड़ा हुआ वीडियो...