भारत में मिला Coronavirus का एक और खतरनाक वेरिएंट, 7 दिन में कर देता है वजन कम

कोरोनावायरस का एक और खतरनाक वेरिएंट भारत में पाया गया है. यह वेरिएंट इतना खतरनाक है कि संक्रमित होने के सात दिनों के भीतर मरीज अपना वजन कम कर सकता है.

  • 3855
  • 0

कोरोनावायरस लगातार अपना रूप बदल रहा है और खतरनाक होता जा रहा है. हर दिन इसके नए वेरिएंट सामने आ रहे हैं. अब इसका एक और खतरनाक रूप भारत में पाया गया है. यह इतना खतरनाक है कि संक्रमित होने के सात दिनों के भीतर मरीज अपना वजन कम कर सकता है. पहले यह वेरिएंट ब्राजील में उपलब्ध था. वहां से केवल एक ही वेरिएंट के भारत आने की पुष्टि हुई. हालांकि, अब वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्राजील से भारत में दो तरह के कोरोना वायरस आए हैं. दूसरे वेरिएंट का नाम बी.1.1.28.2 है.

ये भी पढ़े:Horoscope: इन राशियों के लोगों की किस्मत चमकेगी, जानिए आज का राशिफल

{{img_contest_box_1}}

रिपोर्ट्स के मुताबिक वैज्ञानिकों ने इस वेरिएंट का एक चूहे पर परीक्षण किया. इसके परिणाम चौंकाने वाले थे. वैज्ञानिकों को पता चला है कि संक्रमित होने के तुरंत बाद सात दिनों के भीतर इसकी पहचान की जा सकती है. यह इतना खतरनाक है कि यह 7 दिनों के भीतर मरीज के शरीर के वजन को कम कर सकता है. इसके साथ ही डेल्टा वेरिएंट की तरह यह एंटीबॉडी क्षमता को भी कम कर सकता है. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी), पुणे के वैज्ञानिकों ने कहा कि बी 1.1.28.2 वैरिएंट दो लोगों में पाया गया जो विदेश से आए थे. इस प्रकार की जीनोम अनुक्रमण किया गया और फिर परीक्षण किया गया. फिलहाल भारत में ज्यादा केस नहीं हैं, जबकि डेल्टा वेरिएंट सबसे ज्यादा मिल रहा है.

ये भी पढ़े:Rajasthan-UP समेत इन राज्‍यों में बारिश होने की पूरी संभावना, जानें मानसून का हाल

विदेश से लौटे दो लोगों के सैंपल की सीक्वेंसिंग की गई. दोनों लोगों में तब तक लक्षण नहीं थे, जब तक कि वे कोरोना से ठीक नहीं हो गए, लेकिन उनके सैंपल लेने के बाद जब बी.1.1.28.2 वैरिएंट का पता चला तो सीरियाई हम्सटर चूहे की नौ प्रजातियों पर सात दिनों तक इसका परीक्षण किया गया. इनमें से तीन की मौत शरीर के अंदरूनी हिस्से में बढ़ते संक्रमण के कारण हुई.

{{read_more}}

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT