बच्चों की ऑनलाइन गेम खेलने पर पीएम मोदी ने जताई चिंता, खिलौना बाजार भारत की हिस्सेदारी बढ़ाने पर जोर दिया

आत्मनिर्भर भारत की सबसे बड़ी ताकत परंपरा और औद्योगिक को बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वैश्विक खिलौना बाजार में भारत की भागीदारी बढ़ाने का आसान किया

  • 2108
  • 0

आत्मनिर्भर भारत की सबसे बड़ी ताकत परंपरा और औद्योगिक को बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वैश्विक खिलौना बाजार में भारत की भागीदारी बढ़ाने का आसान किया और साथ ही उन्होंने ऑनलाइन गेम्स गेम पर भी अपनी चिंता जाहिर की है.

पीएम मोदी ने बताया कि खिलौना बाजार वैश्विक स्तर पर करीब 100 करोड़ अरब डॉलर का है लेकिन हमारे भारत की हिस्सेदारी केवल डेढ़ अरब डॉलर के आसपास की ही है. इसका मतलब जितनी हमारी आवश्यकता है उसका लगभग 80% खिलौने ही हम भारत में आयात करते हैं और इसका मतलब है कि हमारे भारत देश का करोड़ों रुपए बाहर के बाजारों में जा रहे हैं और इस स्थिति को हमें बदलना है

पीएम मोदी ने आगे कहते हुए कहा कि हमारी आने वाली पीढ़ी को हम हमारे भारतीयता का हर एक बहू मानचित्र रांची रोचक तरीके से बताएं साथ ही हमारे खिलौने बच्चों के मनोरंजन तो करें ही लेकिन उन्हें व्यस्त थी रखें उन्हें शिक्षा भी प्रदान करें. और यह सब हमें ही सुनिश्चित करना होगा.

पीएम मोदी ने आगे कहते हुए कहा की खिलौने से जुड़ा एक और बहुत बड़ा पक्ष है जिसे हर एक व्यक्ति को जानना जरूरी है यह खिलौने और गेमिंग की दुनिया की अर्थव्यवस्था यानी  टॉयकोनाॅमी को बढ़ाता है. 

इस दौरान केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री संजय धोत्रे, केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल जैसे कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT