'नेता खुद तो छांव में रहते हैं, AC में रहते हैं....', भूषण पुरस्कार समारोह के दौरान हुई मौत पर ममता बनर्जी ने बोला हमला

सोमवार सुबह उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे और NCP नेता अजीत पवार ने एमजीएम कमोठे अस्पताल पहुंचकर खारघर में महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार समारोह के दौरान तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज करा रहे लोगों से मुलाकात की.

  • 233
  • 0

नवी मुंबई में खारघर क्षेत्र में रविवार को खुले मैदान में महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार समारोह का आयोजन किया गया. इस दौरान तेज धूप और गर्मी की चपेट में आने से हुई 11 लोगों की मौत हो गई है. जबकि अभी भी कुछ लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. घटनास्थल के निकटतम मौसम केंद्र के मुताबिक अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया. नवी मुंबई में हुई घटना पर राजनीतिक सियासत शुरु हो गई है. 

 600 लोग हुए हीट स्ट्रोक का शिकार 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने महाराष्ट्र की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी हैं. इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधा है. सीएम ममता बनर्जी कहा, "कल केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मीटिंग के लिए नवी मुंबई गए थे. नेता तो खुद छांव में रहते हैं, AC में रहते हैं, लेकिन इस भीषण गर्मी में लोकप्रियता दिखाने के लिए लोगों बाहर बैठाकर रखा. लोगों ने वहां से निकलने की इच्छा जताई लेकिन उन्हें बाहर जाने नहीं दिया गया. 11 लोगों की मृत्यु हुई, 600 लोग हीट स्ट्रोक का शिकार हुए." 

उद्धव ठाकरे और अजीत पवार पहुंचे अस्पताल

खारघर में महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार समारोह के दौरान तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज करा रहे लोगों से उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे और NCP नेता अजीत पवार ने सोमवार को एमजीएम कमोठे अस्पताल पहुंच कर मुलाकात की. इस दौरान  NCP नेता अजीत पवार इस दौरान मीडिया से कहा, पुरस्कार देने के लिए दोपहर का समय तय किया गया. सभी को पता है कि अप्रैल के महीने में दोपहर को गर्मी कितनी होती है. ये बहुत बड़ा हादसा है, हमने अस्पताल में लोगों ने मुलाकात की है...घटना की जांच होनी चाहिए. 

मृतकों के परिजनों  को 5 लाख की सहयोग राशि का ऐलान

भूषण पुरस्कार समारोह के दौरान बीमार हुए लोगों से मुलाकात करने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा, इस घटना में 11 लोगों की मृत्यु हुई है. कार्यक्रम संपन्न हो गया मगर अंत में ये घटना हुई. मृतकों के परिजनों को सरकार की तरफ से 5 लाख रुपए मदद दी जाएगी. जिन लोगों का इलाज जारी है मैंने उनसे मुलाकात की है. मैंने डॉक्टरों को कहा है कि उनका अच्छा इलाज किया जाए. उनके इलाज का पूरा खर्च सरकार करेगी.

वेंटिलेटर पर कुछ मरीज

वहीं एक पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि नवी मुंबई और पनवेल शहर के अस्पतालों में कुछ मरीज ‘वेंटिलेटर’ पर हैं और उनकी स्थिति पर नजर रखी जा रही है. कुछ लोगों को खारघर के टाटा अस्पताल में भी भर्ती कराया गया है. बता दें कि समारोह में 20 लाख से अधिक लोगों के लिए इंतजाम किया गया था. मगर लोगों के लिए टेंट और पानी की व्यवस्था नहीं की थी. चिलचिलाती धूप और तेज गर्मी की वजह से लोगों की तबीयत खराब हो गई.

 


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT