75 Independence Day: पीएम मोदी ने दिया देश को नया संदेश, जानें संबोधन से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने लाल किले से इस बार देश को एक नया संदेश दिया है.

  • 1352
  • 0

देश आज 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराया.  इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 8वीं बार लाल किले की प्राचीर से देश को अपना संबोधन दिया.  इस मौके पर प्रधानमंत्री ने लाल किले से इस बार देश को एक नया संदेश दिया है. पीएम मोदी ने देश के वीर जवानों को श्रद्धांजलि देने के साथ ही महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, डॉ. बीआर अंबेडकर को भी याद किया. जानिए पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें..

1. पीएम मोदी ने आज देश को सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के साथ सबका प्रयास का नारा दिया. उन्होंने कहा कि यह प्रयास देश के सभी नागरिकों के प्रयासों के बिना अधूरा होगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें अभी से शुरुआत करनी होगी। हमारे पास खोने के लिए एक पल नहीं है। यही समय है, सही समय है। बदलते समय के साथ हमें खुद को भी ढालना होगा.

2. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अमृत काल 25 साल का है, लेकिन हमें अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए इंतजार नहीं करना है. हमारे पास खोने के लिए एक पल नहीं है, समय सही है. हमें खुद को एक नागरिक के रूप में भी बदलना होगा.

3. पीएम मोदी ने कहा कि भारत की विकास यात्रा में वह समय भी आ गया है. हमें देश की आजादी के 75 साल न सिर्फ जाने देना है, बल्कि अगले 25 साल के लिए संकल्प लक्ष्य भी बनाना है, ताकि हम आजादी के शताब्दी वर्ष तक नई ऊंचाइयों को छुएं, उन्होंने कहा कि देश में विकास के लिए नया ढांचा बनाना होगा.

4. पीएम मोदी ने कहा कि जल्द ही पूर्वोत्तर के हर क्षेत्र में एक रेलवे लाइन बिछाई जाएगी, जो इस क्षेत्र को बांग्लादेश, म्यांमार और अन्य पड़ोसी देशों से जोड़ेगी. पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन का काम चल रहा है, जल्द ही वहां विधानसभा चुनाव का रास्ता भी प्रशस्त होगा. लद्दाख में भी यूनिवर्सिटी का काम शुरू हो गया है.

5. इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना पर भी बात की. उन्होंने कहा कि दुनिया के अन्य हिस्सों की तुलना में भारत में संक्रमित मरीज कम हैं। हम और अधिक नागरिकों को बचाने में सफल रहे हैं लेकिन यह पीठ थपथपाने का समय नहीं है, उन्होंने कहा कि यह कहना कि कोरोना कोई चुनौती नहीं है, यह एक ऐसी व्यवस्था बन जाएगी जो हमारे आगे का रास्ता रोक देगी.

6. पीएम मोदी ने कहा कि हम कोरोना वैक्सीन के लिए किसी दूसरे देश पर निर्भर नहीं हैं. क्या होता अगर भारत के पास अपना टीका नहीं होता? पोलियो का टीका प्राप्त करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. देश में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम है. 54 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं, उन्होंने कोविन कार्यक्रम की भी सराहना की. कोरोना महामारी के दौरान 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज दिया गया है और उनके घरों के चूल्हे जलाए गए हैं.

7. पीएम मोदी ने डॉक्टरों, चिकित्साकर्मियों, सफाई कर्मचारियों, वैक्सीन निर्माताओं और सभी स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को कोरोना काल में उनकी निरंतर सेवा के लिए धन्यवाद दिया. पीएम मोदी ने देश की युवा पीढ़ी को गौरवान्वित करने वाले टोक्यो ओलंपिक के खिलाड़ियों का स्वागत किया.

8. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश को टैक्स के दायरे से मुक्त करने वाली व्यवस्था- अनुच्छेद 370 को बदलने का ऐतिहासिक फैसला होना चाहिए- चाहे वह जीएसटी हो, हमारे सैन्य साथियों के लिए वन रैंक वन पेंशन हो या शांतिपूर्ण समाधान। राम जन्मभूमि मामला। समाधान, हम सभी ने वर्षों से इसे सच होते देखा है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT