Ankita Murder Case: गुस्साए लोगों ने विधायक की गाड़ी का तोड़ा शीशा, आरोपी की फैक्टरी में लगाई आग

अंकिता हत्याकांड को लेकर एम्स ऋषिकेश के बाहर बड़ी संख्या में लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया. इस बीच एम्स पहुंचे विधायक को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा.

  • 443
  • 0

अंकिता हत्याकांड को लेकर एम्स ऋषिकेश के बाहर बड़ी संख्या में लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया. इस बीच एम्स पहुंचे विधायक को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा. वहीं धामी सरकार ने मामले में बड़ा फैसला लिया है. आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद आर्य और उनके बेटे अंकित आर्य को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है.

सड़कों पर प्रदर्शन

शनिवार की सुबह अंकिता का शव मिलने के बाद राज्य में हर तरफ लोगों का गुस्सा साफ नजर आ रहा है. सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे लोग आरोपी को फांसी देने की मांग कर रहे हैं. इस बीच एम्स ऋषिकेश के बाहर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई है. अंकिता का पोस्टमॉर्टम एम्स ऋषिकेश में किया गया.

फैक्ट्री में आग

इस दौरान जब यमकेश्वर विधायक रेणु बिष्ट यहां पहुंची तो गुस्साई भीड़ ने उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ दिए. लोगों के विरोध के बाद विधायक को एम्स से निकालना पड़ा. वहीं धामी सरकार ने मामले में बड़ा फैसला लिया है. आरोपी पुलकित आर्य के भाई अंकित को पिछड़ा आयोग से मुक्त किया जाएगा. अंकित आर्य वर्तमान में पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष हैं. उधर, गुस्साए लोगों ने आरोपी पुलकित आर्य की फैक्ट्री में आग लगा दी. जिसे वनंतरा रिजॉर्ट के पीछे बनाया गया था.

गेस्ट हाउस की जांच

अंकिता हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. डीआईजी कानून व्यवस्था, एसपी रेखा यादव और एएसपी शेखर सुयाल को शामिल कर एसआईटी का गठन किया गया है. इन अधिकारियों की निगरानी में मामले की पूरी जांच की जाएगी. डीजीपी ने सभी जिलों में ऐसे रिसॉर्ट और गेस्ट हाउस की जांच के निर्देश दिए हैं. एलआईयू और क्षेत्र के निरीक्षक के साथ टीम बनाकर जांच की जाएगी. इन रिसॉर्ट्स और गेस्ट हाउस की महिला स्टाफ पर भी चर्चा की जाएगी. डीजीपी ने पूरे मामले में एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट मांगी है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT