आतिशी मारलेना और सौरभ भारद्वाज बनेंगे AAP सरकार के मंत्री, केजरीवाल ने दोनों नाम LG के पास भेजे

आप के सांसद संजय सिंह ने NDTV से कहा कि सौरभ भारद्वाज और आतिशी का नाम मुख्यमंत्री की तरफ से तय हुआ है. यह दोनों ही योग्य, सक्षम और बेहतरीन तरीके से अपना काम करने की योग्यता रखते हैं.

  • 371
  • 0

दिल्ली शराब बिक्री नीति (अब रद्द) मामले में दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और मनीलॉड्रिग केस में जेल में बंद दिल्ली से स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन इस्तीफा दे चुके. अब इनकी जगह केजरीवाल की कैबिनेट में दो नाम तय हो चुके हैं. दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने सौरभ भारद्वाज और आतिशी मारलेना का नाम उप राज्यपाल के पास मंजूरी के लिए भेज दिया है. ये दोनों लोग दिल्ली सरकार के नए मंत्री बनाए जाएंगे. फिलहाल सिसोदिया और जैन के विभाग की जिम्मेदारी कैलाश गहलोत और राजकुमार आनंद के पास है.

ये दोनों लोग मंत्री बनने योग्य हैं: संजय सिंह

आप के सांसद संजय सिंह ने NDTV से बातचीत में कहा कि सौरभ भारद्वाज और आतिशी का नाम मुख्यमंत्री की तरफ से तय हुआ है. यह दोनों ही योग्य, सक्षम और बेहतरीन तरीके से अपना काम करने की योग्यता रखते हैं. जो मंत्रालय मुख्यमंत्री की तरफ से मिलेगा उस के माध्यम से दिल्ली के लोगों की ये सेवा करेंगे. बता दें कि अतीशी मारलेना कालकाजी विधानसभा सीट से विधायक हैं. वह मनीष सिसोदिया की सलाहकार भी रह चुकी हैं. वहीं सौरभ भारद्वाज की बात कि जाए तो इससे पहले सौरभ भारद्वाज केजरीवाल की 49 दिन की पहली सरकार में ट्रांसपोर्ट मंत्री रह चुके हैं.

सिसोदिया और सत्येंद्र जैन ने दिया इस्तीफा 

दरअसल भ्रष्टाचार मामले में रविवार को मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी हुई थी. इसके बाद मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है. केजरीवाल के बाद मनीष सिसोदिया ही आम आदमी पार्टी में सबसे बड़े नेता हैं. उनके पास दिल्ली सरकार के कुल 33 में से 18 विभाग थे. अरविंद केजरीवाल ने आज शाम 4 बजे पार्टी नेताओं की बैठक बुलाई है.

मनीष सिसोदिया के पास शिक्षा, लोक निर्माण, वित्त, आबकारी, ऊर्जा, जल और स्वास्थ्य जैसे सबसे अहम विभाग थे. वहीं, सत्येंद्र जैन 9 महीने से तिहाड़ जेल में हैं. सिसोदिया अपने विभागों के साथ ही सत्येंद्र जैन के विभागों का काम भी देख रहे थे. 

सिसोदिया ने रेजिगनेशन लेटर में क्या लिखा

वहीं, मनीष सिसोदिया का रेजिगनेशन लेटर भी सामने आ गया है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नाम अपने इस्तीफे में उन्होंने लिखा,​‘ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि 8 साल ईमानदारी और सच्चाई से काम करने के बावजूद मुझ पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे हैं। मैं और मेरा ईश्वर जानता है कि मैं बेगुनाह हूं। ये आरोप और कुछ नहीं बल्कि कायर और कमजोर लोगों की साजिश है जो अरविंद केजरीवाल की सच्चाई की राजनीति से डरे हुए हैं.'

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT