महिला खिलाड़ियों के होटल में रुकते थे बृजभूषण सिंह, अंशु मलिक और विनेश फोगाट ने लगाए गंभीर आरोप

विनेश फोगाट ने कहा कि हमें जान का भी खतरा है, हमने पुलिस का प्रोटेक्शन भी नहीं ली है. जब शोषण होता है तो एक कमरे में होता है वहां कैमरे नहीं लगाए जाते हैं. वे लड़कियां भी हमारे साथ हैं जो इसे साबित कर सकती हैं.

  • 564
  • 0

दिल्ली के जंतर मंतर पर रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (WFI)के खिलाफ भारतीय पहलवानों का धरना लगातार दूसरे दिन भी जारी है. इस दौरान पहलवान अंशु मलिक और विनेश फोगाट ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह पर बड़ा आरोप लगाया है. अंशु मलिक ने कहा कि विदेश दौरे पर बृजभूषण सिंह होटल में महिलाओं के सामने वाले कमरे में रुकते थे. वो हमेशा अपना दरवाजा खुला रखते थे.  बता दें कि भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष पर महिला खिलाड़ियों का यौन शोषण का आरोप लग चुका है. बड़ी संख्या में दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवान उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. 

खिलाड़ियों के होटल में रुकते थे बृजभूषण सिंह

अंशु मलिक ने कहा कि नियमों के मुताबिक फेडरेशन का कोई भी मेंबर खिलाड़ियों वाले होटल में नहीं रुक सकता था, इसके बावजूद भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह उसी होटल में रुकते थे. जिसमें महिला खिलाड़ियों के रुकने की व्यवस्था होती थी. महिला खिलाड़ी इस बात से असहज हो जाती थीं. 

कमरे से बाहर नहीं निकल पाती थीं महिला खिलाड़ी

अंशु मलिक ने बताया कि बुल्गारिया में फेडरेशन के अध्यक्ष महिला खिलाड़ियों के कमरे के सामने ही रुके हुए थे. वो दरवाजा खुला रखते थे, इससे महिला खिलाड़ियों को दिक्कत होती थी. वो बाहर नहीं निकल पाती थीं. वो सिर्फ और सिर्फ ट्रेनिंग के टाइम ही रूम से बाहर निकल पाती थीं. 

5-6 महिला पहलवानों का हुआ शोषण 

वहीं भारतीय पहलवान व ओलंपियन विनेश फोगाट ने कहा कि हमारे साथ 5-6 महिला पहलवान हैं. जिन्होंने इन शोषण का सामना किया है. हमारे पास इसे साबित करने के सबूत हैं. हमें सरकार से कोई संतोषजनक प्रतिक्रिया नहीं मिली है. हम सुनिश्चित करेंगे कि बृजभूषण सिंह इस्तीफा दें और उन्हें जेल हो, हम केस दर्ज कराएंगे.

विनेश फोगाट ने बताया जान का खतरा 

विनेश फोगाट ने कहा कि हमें जान का भी खतरा है, हमने पुलिस का प्रोटेक्शन भी नहीं ली है. जब शोषण होता है तो एक कमरे में होता है वहां कैमरे नहीं लगाए जाते हैं. वे लड़कियां भी हमारे साथ हैं जो इसे साबित कर सकती हैं.

30 ज्यादा पहलवान कर रहे धरना प्रदर्शन 

वर्तमान में भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) और WFI के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के ख़िलाफ़ यौन शोषण के आरोप लगाए जाने पर बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक समेत 30 से ज्यादा पहलवान जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

समाधान नहीं निकला तो कानून का सहारा लेंगे: बजरंग पुनिया 

भारतीय पहलवान व ओलंपियन बजरंग पुनिया ने कहा कि हम चाहते हैं कि फेडरेशन को बंद किया जाए क्योंकि फेडरेशन में वे अपने ही लोगों को बिठाएंगे. अगर इसका समाधान जल्दी नहीं निकला तो हम कानून का भी सहारा लेंगे.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT