क्रेडिट स्कोर गिरना आपके लिए बन सकता है मुसीबत, जानें इसे संतुलित रखने के आसान तरीके, देखें वीडियो

भुगतान को प्राथमिकता देना, अपने क्रेडिट स्कोर को सुरक्षित रखने का सबसे अच्छा तरीका है कि सबसे पहले अपना ऋण चुकाएं।

  • 1500
  • 0

हर व्यक्ति चाहता है कि वो आर्थिक रूप से इतना मजबूत रहे कि उसे किसी की जरूरत ने पड़े न किसी से उधार लेना पड़े। कई बार लोग शौक में क्रेडिट कार्ड आदि का उपयोग करते हैं जो भी एक तरह का लोन और उधार ही है। इसके अलावा इस वर्ष आई महामारी ने लोगों को परिस्थिति के आगे मजबूर कर दिया है और न चाहते हुए सभी को अपने बनाये हुए नियम तोड़ने पर मजबूर किया।

महामारी से उपजे आर्थिक संकट की वजह से कई लोगों ने पहले से लिए गए लोन को चुकाने में देरी कर दी या फिर चुकाया ही नहीं है। इसका क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव होता है। इससे कैसे बचा जाए ये हम आपको बताएंगे लेकिन उससे पहले जान लीजिये क्रेडिट स्कोर क्या होता है। बता दें कि क्रेडिट स्कोर एक संख्या होती है जो व्यक्ति द्वारा बैंक से किये लेन-देन का पूरा हिसाब रखती है। साथ ही अगर आपको कभी भविष्य में लोन लेना पड़ता है तो बैंक इसी के आधार पर तय करती है लोन देना है या नहीं। अगर देना है तो कितनी ब्याज पर देना है।   


कैसे रखें अपने क्रेडिट स्कोर का ख्याल? किन बातों का रखें ख्याल? जानें यहां ..... 


- पेमेंट को प्रियॉरिटी पर रखना, क्रेडिट स्कोर को सुरक्षित रखने का सबसे अच्छा तरीका है। इसके लिए लोन को सबसे पहले चुकाना चाहिए। 


-  अगर बड़े लोन हैं तो उन्हें पहले चुकाएं, क्योंकि ये आपके क्रेडिट स्कोर पर डालते हैं ज्यादा प्रभाव, इसलिए मासिक ईएमआई को  चुकाएं 


- अपनी समस्या के बारे में बैंक से बात करने में न घबराएं, बात करना होगा प्रभावी 


- अगर आप एक अच्छे उधारकर्ता रहे हैं और आपके बैंक के साथ अच्छे संबंध हैं, तो 10 में से 9 बार बैंक आपकी समस्या समझ जाएगा 


- अपने बैंक से ऋणों के पुनर्गठन के लिए बात करें और अपने ब्याज को  कम करवाएं 


- ऐसे में कई बार बैंक लेट फीस माफ कर देते हैं और कम ब्याज दर पर पुनर्भुगतान विकल्प प्रदान कर देते हैं 


- इसलिए लेट फीस न लगने दें क्योंकि ये आपके क्रेडिट स्कोर पर बहुत प्रभाव  डालता है 


-  अपने क्रेडिट स्कोर को हर महीने चेक करें, और इसके लिए CIBIL credit score का ही इस्तेमाल करें 


- अगर किसी और माध्यम  से आप इसे चेक करते हैं तो ये भी आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव डालता है 


- अपने  क्रेडिट कार्ड बिल को समय  भरें इसमें किसी भी स्थिति में  देरी न करें, क्योंकि इनका इंट्रेस्ट रेट भी ज्यादा होता है, और लेट फीस भी 


- क्रेडिट कार्ड ईएमआई समय पर न देने से आपके क्रेडिट स्कोर को भारी झटका लग सकता है


- अपने क्रेडिट कार्ड से कभी भी कैश न निकालें यह आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करता है


-  ताजा कर्ज जमा न होने दें क्योंकि इससे आपका क्रेडिट स्कोर और गिर जायेगा,सभी अनावश्यक खर्चों में कटौती करें


- पुराने और बड़े कर्जों को निपटाने में अगर समय लग रहा है तो हाल में लिए कर्जों को और छोटे कर्जों को चुकाएं, इससे क्रेडिट स्कोर कई हद तक संतुलित रहेगा 


- क्रेडिट स्कोर अच्छा  होने से बैंक कम ब्याज दर  लोन देती हैं, क्रेडिट स्कोर कम होने पर ज्यादा ब्याज दर पर देती हैं लोन 


- अगर क्रेडिट स्कोर बहुत ही ज्यादा खराब होता है तो बैंक लोन नहीं देती 


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT