बुखार की दवा भी टेस्ट में हुई फेल, खाने से पहले देख लें नाम

अफ्रीकी देश गाम्बिया में एक भारतीय दवा कंपनी का कफ सिरप पीने से 66 बच्चों की मौत के आरोपों के बीच देश में कुछ अन्य दवा कंपनियों के सैंपल फेल हो गए हैं.

  • 746
  • 0

अफ्रीकी देश गाम्बिया में एक भारतीय दवा कंपनी का कफ सिरप पीने से 66 बच्चों की मौत के आरोपों के बीच देश में कुछ अन्य दवा कंपनियों के सैंपल फेल हो गए हैं. केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन की ओर से पिछले महीने जारी रिपोर्ट के मुताबिक करीब 45 दवाओं के नमूने खराब गुणवत्ता के पाए गए। विफल नमूनों में से 13 हिमाचल प्रदेश में स्थित विनिर्माण इकाइयों के हैं. जिन दवाओं के सैंपल फेल हो गए हैं, उनमें पैरासिटामोल शामिल है, जिसका अत्यधिक सेवन किया जाता है और आम है.

एक दवा टेल्मिसर्टन के खिलाफ

'द ट्रिब्यून' की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस साल मई में सहायक औषधि नियंत्रक और लाइसेंसिंग प्राधिकरण, नई दिल्ली ने ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड और उसकी एक दवा टेल्मिसर्टन के खिलाफ ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स के तहत जांच शुरू की थी. अधिनियम 140. मोहाली स्थित दवा कंपनी के ओफ़्लॉक्सासिन और ऑर्निडाज़ोल एंटीबायोटिक नमूनों की धारा 17 बी (E) के तहत 'संदिग्ध' भी परीक्षण में पास नहीं हुआ.

दवा परीक्षण में विफल रही

चंडीगढ़ की एक दवा कंपनी द्वारा निर्मित एंटीबायोटिक जेंटामाइसिन इंजेक्शन, बैक्टीरियल एंडोटॉक्सिन और बाँझपन परीक्षण पास करने में विफल रहा. हाल ही में, हिमाचल में कला एमबी की निक्सी लेबोरेटरीज जांच के दायरे में आ गई क्योंकि इसकी एक दवा, एनेस्थीसिया प्रोपोफोल, गुणवत्ता परीक्षण में विफल रही. पांच मरीजों की मौत के बाद चंडीगढ़ पीजीआईएमईआर के इमरजेंसी वार्ड से सैंपल लिया गया था. इन सभी मरीजों को सर्जरी से पहले यह बेहोश करने की दवा दी गई. हिमाचल की दवा कंपनी को इस बैच की सभी दवाएं वापस लेने को कहा गया.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT