सूर्य भगवन को प्रसन्न करने के ये हैं कुछ अचूक उपाय

वैदिक ज्योतिष में सूर्य को नवग्रहों का राजा कहा गया है. सूर्य के प्रभाव से मनुष्य को मान-सम्मान और यश की प्राप्ति होती है.

  • 1063
  • 0

वैदिक ज्योतिष में सूर्य को नवग्रहों का राजा कहा गया है. सूर्य के प्रभाव से मनुष्य को मान-सम्मान और यश की प्राप्ति होती है. शुभ फल को धूप से बचाने और अशुभ प्रभाव को रोकने के लिए कई उपाय सुझाए गए हैं. सूर्य यंत्र और सूर्य नमस्कार सहित कई उपाय करने से लाभ मिलता है. नियमित रूप से सूर्य मंत्र का जाप और सूर्य नमस्कार करने से प्रतिदिन सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होती है. सूर्य को सरकार और विभिन्न क्षेत्रों में उच्च सेवा का कारण माना जाता है.

 यह भी पढ़ें :   सिंह, मकर और कन्या राशि वाले न करें ये काम सकता है भारी नुक्सान

वैदिक ज्योतिष के अनुसार कुंडली में सूर्य की शुभता व्यक्ति को जीवन में उन्नति प्रदान करती है, लेकिन यदि सूर्य अशुभ प्रभाव देता है, तो मान सम्मान की हानि, पिता से कष्ट, बड़ी बाधा, हृदय और नेत्र रोग होता है. कुंडली में सूर्य से संबंधित किसी भी समस्या के समाधान के लिए यहां सूर्य ग्रह से संबंधित विभिन्न समाधानों का उल्लेख किया गया है.

सूर्य भगवान के उपाय विशेष रूप से सुबह के समय किए जाते हैं:

1. हर सुबह भगवान सूर्य या सूर्य भगवान की पूजा करें.

2. हर सुबह सूर्योदय के समय भगवान राम की प्रार्थना करने की सलाह दी जाती है.

3. आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें.

4. सूर्य के लिए उपवास; सूर्य भगवान की कृपा पाने के लिए रविवार का व्रत करने की सलाह दी जाती है.

5. सूर्य की कृपा पाने के लिए बेल मूल धारण करें यह जड़ रविवार के दिन सूर्य के नक्षत्र में धारण करनी चाहिए.

6. सूर्य के विशेष आशीर्वाद और लाभ प्राप्त करने के लिए इसे पहनने की सलाह दी जाती है: 1 मुखी, 3 मुखी या 12 मुखी रुद्राक्ष.

सूर्य मंत्र :  सूर्य ग्रह को प्रसन्न करने के लिए आप सूर्य बीज मंत्र का जाप कर सकते हैं। "OM ह्रीं ह्रीं सः सूर्याय नमः"

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT