कार्तिक महीने की हुई शुरूआत, इन नियमों का पालन कर ऐसे करें भगवान विष्णु को प्रसन्न

आज से कार्तिक महीने की शुरुआत हो चुकी है। जानिए कैसे इस पूरे महीने भगवान विष्णु के साथ-साथ मां लक्ष्मी को भी प्रसन्न कर सकते हैं आप।

  • 3014
  • 0

कार्तिक महीने की शुरुआत 1 नवंबर से शुरु हो चुकी है, जोकि 30 नवंबर तक रहने वाला है। हिंदू धर्म में इसका काफी ज्यादा विशेष स्थान है। इस दौरान दीपदान और कार्तिक स्नान काफी अच्छा माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि यह महीना भगवान विष्णु के अलावा मां लक्ष्मी को भी काफी पसंद है। इस महीने में कुछ नियमों का बेहद ही सख्ती के साथ पालन किया जाता है ताकि मां लक्ष्मी अपनी कृपा लोगों पर बरसा सकें। 

मां लक्ष्मी का भी मिलता आशीर्वाद

ऐसा कहा जाता है कि ये महीना मां लक्ष्मी और विष्णु जी को काफी ज्यादा पसंद है। इस महीने धन की प्राप्ति होती है। इस महीने को लेकर ऐसा कहा जाता है कि इस दौरान भगवान विष्णु अपनी योग निद्र से जागते हैं और धरती पर रहने वाले लोगों पर अपनी कृपा बरसाने का काम करते हैं। अब जहां भगवान विष्णु की पूजा जाती है वहां लक्ष्मी की आराधना भी होती है। 

तुलसी के आगे दीया जलाना होता है शुभ

इस दौरान तुलसी की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है कि मां तुलसी के सामने हर शाम घी या फिर तेल का दीया जलाने से आपको काफी लाभ प्राप्त होता है। ऐसा करने से आपका पारवारिक जीवन खुशहाल रहता है।

इन नियमों का करें सख्ती से पालन

- ऐसा कहा जाता है कार्तिक के महीने में यदि आप जमीन पर सोते हैं तो आपके मन में अच्छे और पवित्र विचार उत्पन्न होते हैं। जमीन पर सोना कार्तिक के महीने का तीसरा अहम काम माना गया है।

- तुलसी के पौधे की पूजा करना भी काफी ज्यादा शुभ इस महीने में माना जाता है। इस दौरान पूजा का फल भी दोगुना हो जाता है।

- कार्तिक के महीने में आपको ब्रह्मचर्य का सख्ती से पालन करना चाहिए। ऐसा करने से आपको शुभ फल प्राप्त होंगे।

-इस महीने दीप जरूर दान करें क्योंकि इससे आपको काफी पुण्य मिलने वाला है।

-कार्तिक के महीने में उड़द, मंगू, मसूर, चना, मटर आदि बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए।

-व्रत रखने वाले इंसान को एक तपस्वी की तरह ही व्यवहार करना चाहिए।


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT