पालतू Pitbull ने ली अपनी ही मालकिन की जान, छत पर टहलाने के सयम किया हमला

मालकिन की हत्या करने वाले पिटबुल प्रजाति के कुत्ते को नगर निगम जब्त करेगा. घटना के अगले दिन बुधवार को नगर निगम की टीम हत्यारे पिटबुल को लेने बंगाली टोला स्थित घर पहुंची.

  • 664
  • 0

मालकिन की हत्या करने वाले पिटबुल प्रजाति के कुत्ते को नगर निगम जब्त करेगा. घटना के अगले दिन बुधवार को नगर निगम की टीम हत्यारे पिटबुल को लेने बंगाली टोला स्थित घर पहुंची. घर में ताला लगा होने पर टीम वापस आ गई. अब गुरुवार को एक बार फिर टीम उन्हें लाने जाएगी. पिटबुल को जब्त करने के बाद उसे कुकरैल के पास जहरा राधा पार्क में रखा जाएगा. यह जानकारी पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ अभिनव वर्मा ने दी.

बंगाली टोला वह घर जिसमें पिटबुल नस्ल के कुत्ते ने अपनी मालकिन को मार डाला। बुधवार को सन्नाटा पसरा रहा. परिजन राख लेकर इलाहाबाद गए तो पूरे इलाके में दहशत का माहौल था. सुबह हत्यारा कुत्ता छत पर टहल रहा था. घर के बाहर ताला लगा हुआ था, तो अंदर एक महिला थी, जो शायद एक कामगार थी. सुबह आसपास के लोगों ने छत पर कुत्ते के भौंकने की आवाज सुनी थी, लेकिन दोबारा नहीं. शायद गर्मी के बाद उसे ऐसे कमरे में रखा गया था. कल की घटना से आसपास के रहवासी दहशत में हैं और वे भी खूंखार कुत्ते की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं.

घर में दो कुत्ते थे

पुलिस के मुताबिक, सावित्री नाम की एक सेवानिवृत्त महिला शिक्षिका अपने 25 वर्षीय बेटे के साथ अपने घर में रहती थी. उनका बेटा जिम ट्रेनर है. उसके पास दो पालतू कुत्ते हैं - एक पिट बुल और एक लैब्राडॉग. पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने कुत्ते के भौंकने और सावित्री के चिल्लाने की आवाज सुनी.

पड़ोसियों ने कुत्तों के भौंकने की आवाज सुनी

पड़ोसियों ने कहा, 'जब हमने महिला को मदद के लिए चिल्लाते हुए सुना तो हम उसके दरवाजे पर पहुंचे, लेकिन वह अंदर से बंद थी और चाची खून से लथपथ पड़ी थीं. हमने दरवाजा खोलने की कोशिश की, लेकिन वह बंद था. हमने तुरंत उनके बेटे को सूचना दी.

महिला के शरीर में फंस गए कुत्ते के दांत

बेटा लौटा तो पड़ोसियों की मदद से मां को बलरामपुर अस्पताल ले गया, जहां से उसे केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया. ट्रॉमा सेंटर के वरिष्ठ डॉक्टरों ने बताया कि महिला के गले से लेकर पेट और पैरों तक कई गहरे घाव थे. मृतक के शरीर में कुत्ते के दांत धंस गए थे और पेट का मांस फटा हुआ था.

कुत्ते तीन साल से साथ रह रहे थे

डॉक्टरों ने कहा कि उन्होंने बहुत कोशिश की, लेकिन अत्यधिक खून बहने के कारण महिला को नहीं बचा सके. देर शाम शव का पोस्टमॉर्टम किया गया. घटना से इलाके में दहशत फैल गई. स्थानीय लोगों ने बताया कि दोनों कुत्ते पिछले तीन साल से परिवार के साथ हैं, लेकिन उन्हें इस तरह कभी नहीं देखा. अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि पालतू कुत्ते कैसे घातक हो गए.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT