1 जनवरी से CoWIN ऐप पर शुरू होगा रजिस्ट्रेशन

CoWIN प्लेटफॉर्म के चीफ डॉ. आरएस शर्मा के अनुसार 15-18 वर्ष की आयु के बच्चे 1 जनवरी से CoWIN ऐप पर जरूरी बदलाव किए गए हैं. यहां 10वां आईडी कार्ड जोड़ा गया है. इसो स्टूडेंट आईडी कार्ड नाम दिया गया है.

  • 826
  • 0

कोरोना के खिलाफ अब बच्चों के लिए भी टिकाकरण शुरु करने की पूरी तैयारी कर  दी गई है. 1 जनवरी 2022 से कोविन ऐप पर बच्चों को वैक्सीन लगवाने के लिए रजिस्ट्र्शन शुरु किए जाएंगे. 

ये भी पढ़ें:- Delhi: नाइट कर्फ्यू के लिए दिल्ली सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जाने यहां

CoWIN प्लेटफॉर्म के चीफ डॉ. आरएस शर्मा के अनुसार 15-18 वर्ष की आयु के बच्चे 1 जनवरी से CoWIN ऐप पर जरूरी बदलाव किए गए हैं. यहां 10वां आईडी कार्ड जोड़ा गया है. इसो स्टूडेंट आईडी कार्ड नाम दिया गया है. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि हो सकता है कि कुछ बच्चों के पास आधार कार्ड या कोई दूसरा पहचान पत्र ना हो.

ये भी पढ़ें:- Omicron के बाद नए वैरिएंट की चेतावनी, हिरणों की वजह से हो सकते हैं संक्रमित

आपको बता दें कि भारत बायोटेक का कोवैक्सिन 15 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए उपलब्ध एकमात्र वैक्सीन होने की संभावना है. हालांकि ज़ायडस कैडिला की वैक्सीन ZyCoV-D को भी बच्चों के बीच अनुमोदित किया गया है. ZyCoV-D पहला टीका था जिसे बच्चों पर लगाने के लिए मंजूरी मिली थी, लेकिन यह 3 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण कार्यक्रम का हिस्सा नहीं हो सकता है क्योंकि इसे अभी तक वयस्कों के लिए भी इस्तेमाल नहीं किया गया है.

ये भी पढ़ें:-  PKL 2021-22: पिछले मुकाबले में रोमांचक जीत के बाद अब यूपी योद्धा जयपुर पिंक पैंथर्स का सामना करने को तैयार

टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के अध्यक्ष डॉ एनके अरोड़ा ने रविवार को कहा कि परीक्षण के दौरान कोवैक्सिन से बच्चों में अच्छी प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया दिखाई है. न्यूज एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में डॉ अरोड़ा ने कहा, 12 से 18 साल के बच्चे, खासकर 15 से 18 साल की उम्र के बच्चे, काफी हद तक वयस्कों की तरह होते हैं. देश के भीतर हमारे शोध में यह भी कहा गया है कि भारत में COVID के कारण होने वाली मौतों में से लगभग दो-तिहाई इस आयु वर्ग के हैं. यही कारण है कि बच्चों को वैक्सीन लगाने का निर्णय लिया गया है

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT