कम हुआ खुदरा महंगाई दर, सितंबर में घटकर 4.35 प्रतिशत पर आई

खाद्य वस्तुओं कीमतें कम होने से खुदरा मुद्रास्फीति सितंबर माह में घटकर 4.35 प्रतिशत पर आ गयी.

  • 691
  • 0

खाद्य वस्तुओं कीमतें कम होने से खुदरा मुद्रास्फीति सितंबर माह में घटकर 4.35 प्रतिशत पर आ गयी. अभी मंगलवार को जारी सरकारी रिकार्ड्स के मुताबिक उपभोक्ता मूल्य क्रम-सूची (सीपीआई) आधारित मुद्रास्फीति अगस्त में 5.30 प्रतिशत तथा सितंबर, 2020 में 7.27 अनुपात थी. राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के रिकार्ड्स के मुताबिक, खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर इस साल सितंबर में नरम होकर 0.68 अनुपात रहा है. यह पिछले महीने 3.11 अनुपात के मुकाबले बहुत कम है.


बढ़ता महंगाई दर 

आपको बता दें भारतीय रिजर्व बैंक दो महीने वाली आर्थिक नीति समीक्षा पर ख्याल करते वक़्त प्रमुख रूप से उपभोक्ता मूल्य क्रम-सूची आधारित महंगाई दर पर ध्यान करता है. सरकार ने केंद्रीय बैंक को 2 अनुपात घटत-बढ़त के साथ खुदरा मुद्रास्फीति को 4 प्रतिशत पर बरकरार रखने की जिम्मेदारी सौंपी है.


आरबीआई ने 2021-22 के लिये सीपीआई आधारित मुद्रास्फीति 5.3 अनुपात रहने का अंदाजा लगाया है. चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में संतुलित जोखिम के साथ इसके 5.1 प्रतिशत, तीसरी तिमाही में 4.5 अनुपात और चौथी तिमाही में 5.8 प्रतिशत रहने का अंदाजा  लगाया है.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT