Exclusive: जानिए संघर्ष के दिनों में कैसे गुजरा था रोहित रॉय का वक्त, अब वेब सीरीज में कैसे मचा रहे हैं धमाल

वेब सीरीज की दुनिया में पेपर धमाल मचाने वाली है। एक्टर रोहित बॉस राय ने इंस्टाफीड के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में अपनी इस वेब सीरीज और खुद की निजी जिंदगी के बारे में खुलकर बात रखी है।

  • 2248
  • 0

टेलीविजन शो किस देश में निकला होगा चांद और स्वाभिमान में नजर आने वाले एक्टर रोहित बॉस रॉय लोगों के बीच हमेशा से ही हिट रहे हैं। उन्होंने पहले टेलीविजन की दुनिया में धमाल मचाया, फिर फिल्म इंडस्ट्री में अच्छा खास मुकाम हासिल किया और उसके बाद वो वेब सीरीज की दुनिया में तहलका मचाते हुए नजर आ रहे हैं। अब एक्टर की नई वेब सीरीज पेपर लोगों के बीच कमाल करने वाली है। Ullu के डिजिटल प्लेटफॉर्म पर आप उसे देख सकते हैं। यहां देखिए कैसे इंस्टाफीड के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में अपनी नई वेब सीरीज और जिंदगी से जुड़ी कई अहम चीजों का खुलासा करते नजर आए हैं एक्टर।

सवाल 1: पेपर के अंदर आप बिल्कुल ही अलग किरदार निभा रहे हैं और ये आपके अबतक के निभाए गए बाकी किरदार से कैसे अलग है?

रोहित बॉस रॉय: पेपर के अंदर निभाया गया मेरा किरदार नेगेटिव नहीं है। हर इंसान में सकारात्मक और नकारात्मक दोनों ही चीजें मौजूद रहती हैं। इसके अंदर जो किरदार है अब्दुल वो एक छोटे से गांव में नारियल पानी बेचता था। वहां से शुरुआत करके कैसे उसकी जर्नी आगे तक पहुंचती उसे दिखाया गया है। उसके हाथ में 20 हजार करोड़ रुपए होते हैं वो भी कैश में। हिंदुस्तान का कोई भी एक्टर हो उसे ऐसे किरदार को निभाने और शो करने में मजा आता है। मेरे लिए भी ये बहुत अच्छी जर्नी रही है। 

सवाल 2: इस वेब सीरीज को बनाते वक्त आपके लिए सबसे खास और बेहतरीन पल कौन-सा रहा था?

रोहित बॉस रॉय: इस वेब सीरीज को करते वक्त कई शानदार पल आए जब बतौर एक्टर मुझे ऐसा लगा कि मैंने सही सूर को छेड़ दिया है। मेरे लिए ये मुश्किल था क्योंकि मैंने कभी खुद को एक सक्षम एक्टर समझा ही नहीं है। अभी भी मैं सीख ही रहा हूं। लेकिन इस शो में मैंने एक हैदराबादी इंसान की भूमिका निभाई है। उसके बोलने का तरीका, लहजा और शब्द का इस्तेमाल जब मैं करता था तो बड़ी तारीफे हुए करती थी। किसी भी एक्टर के लिए चाहे आप कितना भी काम कर लें। उस एक्टर के लिए ये यादगार पल होता हैं। मुझे याद है कि जब हम जेल में एक सीक्वल शूट कर रहे थे। तो वहां पर मुझे बुरी तरह से मारा जा रहा था तो वो सीन जब हमने किया तो वहां मौजूद यूनिट ने बाद में तालियां बजाई। पर ये नहीं पता वो मेरे लिए थी या नहीं। लेकिन फिर भी मेरे लिए ये खास पल रहा था।

सवाल 3: आपने एक इंटरव्यू में कहा था कि आपकी बेटी से आपने काफी कुछ सीखा है तो अभी तक आप क्या-क्या और नई चीज सीख चुके हैं?

रोहित बॉस रॉय: मैं हमेशा अपने माता-पिता के काफी करीब रहा हूं। लेकिन अब जब मेरी बेटी हुई है तो मुझे पता लगा है कि पैरेंटिंग कितना बड़ा और चुनौती भरा काम है। जब बच्चे टीनएजर बनाते हैं तो उनका अलग ही तरह का बर्ताव उनमे देखने को मिलता है। तो उस वक्त माता-पिता को समझना पड़ता है कि अब कैसे बच्चों से बात करनी है। मैं कियारा से बहुत कुछ सीखा हूं। मैंने और मानसी ने 5 शॉर्ट फिल्में की तो कियारा ने उन शॉर्ट फिल्मों की शूटिंग की। मैंने इस दौरान उससे बहुत सारी चीजें सीखी है। अभी भी कुछ न कुछ सीखना लगा ही रहता है। 

सवाल 4: आपने पहले टेलीविजन की दुनिया में काम किया, फिर बॉलीवुड और उसके बाद अब वेब सीरीज में तो आपके लिए सफर कैसा रहा? इनमें क्या अंतर देखने को मिला?

रोहित बॉस रॉय: देखिए किसी भी माध्यम से फर्क पड़ता नहीं है। केवल परफॉर्मेंस में ही थोड़ी ट्विस्ट करना पड़ता है। टेलीविजन में आराम से बातचीत करके चीजें होती है। फिल्मों में किरदार मनाये रखता है। 

सवाल 5: क्या आपने बचपन से ही सोचा हुआ था कि आप एक्टिंग की दुनिया में कदम रखेंगे? ये जर्नी आपकी किस तरह से शुरु हुई?

रोहित बॉस रॉय: मैंने बचपन से ही सोचा हुआ था कि मैं एक्टर नहीं बनूंगा। मैं अपने बड़े भाई रोनित रॉय को देखता था। उनकी एक सुपरहिट फिल्म जान तेरे नाम आई थी। आज भी मुझे याद है कि मैं घर गया और मैंने अपनी मां से कहा कि तुम्हारा बेटा अजीब  काम कर रहा है। मैं गया था उनसे मिलने वो तो  आधी चड्ढी पहने पानी में कूद रहे हैं। एक लड़की है उनके साथ अजीब हरकते कर रही है। गाना बज रहा है पता नहीं क्या-क्या कर रहे हैं। उस वक्त मुझे समझ नहीं था कि वो गाना शूट हो रहा था जब कॉलेज बंद हो जाएगा तो तुम अपने घर को जाओ गए। ये बहुत सुपरहिट गाना था। रोनित और फरहीन इस गाने के लिए पूल में शूटिंग कर रहे थे। लेकिन देखिए किस्मत कैसी चीज होती है उसने ये तय कर लिया था कि मुझे भी एक एक्टर बनना है। हालांकि रोनित कभी नहीं चाहते थे कि मैं एक्टर बनूं। वो चाहते थे कि मैं सिविल सर्विस ज्वाइन करूं। मैं भी उस वक्त पढ़ाई में अच्छा था। लेकिन मैं हमेशा कहता हूं कि ज्यादा प्लानिंग करने की जरूरत नहीं है क्योंकि किस्मत हमारी कुछ तो लिखकर लाई होती है। जब एक्टर बना तो ये तय कर लिया कि मेरे अंदर जितनी क्षमता है वो मैं इसी राह पर लगाऊंगा।

सवाल 6: आपने अपनी लाइफ में क्या उतार चढ़ाव देखे हैं और आपको क्या-क्या झेलना पड़ा है?

रोहित बॉस रॉय: मेरे एक्टिंग करियर की शुरुआत बेहद ही धमाकेदार तरीके से हुई। लोगों को लगने लगा था कि इसे टेलीविजन में नहीं फिल्मों में काम करना चाहिए। उस वक्त कई सारे लोग मेरे आर्टिकल लिखा करते थे बहुत सारी अच्छी बातों के साथ। करीब 8 -10 साल तक मैंने टेलीविजन की दुनिया में काफी अच्छा काम किया। लेकिन जब फिल्मों में मेरा प्रवेश हुआ तो मेरी कोई सी भी फिल्म नहीं चली थी। जब आपकी पहली फिल्म नहीं चलती और आप आउटसाइडर होते हैं तो उस वक्त आपको स्पोर्ट करने में किसी को दिलचस्पी नहीं होती है। ये बात में किसी अफसोस के साथ नहीं कह रहा हूं। जब मेरे पास काम नहीं था तो मैंने एक बेहद ही लॉ पीरियड को देखा था। जब आपकी फिल्में फ्लॉप होती है तो सब नजर अंदाज करना शुरु कर देते हैं। इसके बाद मुझे काम मिलना बंद हो गया था। मुझे से हमेशा ये पूछा जाता है कि शूटआउट एंड लोखंडवाला मूवी के बाद हम लगा था कि आप किसी और ही स्तर पर पहुंच जाएंगे। वैसा नहीं हुआ। टेलीविजन भी किया तो वो सफलता हासिल नहीं हो पाई जो पहले थी। मैंने इसके बाद वेब सीरीज की। मैंने विक्रम भट्ट के साथ मैमॉरी नाम की एक वेब सीरीज की है। उसके बाद मुझे फिल्म काबिल मिली। इस फिल्म के बाद गाड़ी फिर से पटरी पर आई। दो-तीन साल का वो वक्त था जब कुछ भी ठीक नहीं हो रहा था। यहां तक की काबिल फिल्म के बाद भी मैं 6 महीने घर पर ही बैठा रहा था। मैंने उतार-चढ़ाव बहुत देखे हैं जोकि मेरी जिंदगी में एक सीख की तरह है। यदि ये नहीं होता तो मैं चीजें सीखने में दिलचस्पी नहीं रखता।

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT