Weekly Horoscope: 27 सितंबर से 3 अक्टूबर तक कर्क राशि वालों को काम पर देना होगा ध्यान, ऐसा रहेगा भविष्य

27 सितंबर से 3 अक्टूबर 2020 तक जानिए किस राशि के लोगों को मिलेगा अधिक लाभ। वहीं, किन राशि के जातकों को काम पर देना होगा ध्यान।

  • 2573
  • 0

हर एक व्यक्ति के मन में इस बात को जानने की दिलचस्पी बनी रहती है कि उनके आने वाले कल में क्या होगा? हर राशियों  का अपना महत्व और समय होता है। सभी राशियों के लोग एक ही वक्त में अलग-अलग जीवन जीते हैं। ऐसे में यदि आपको पहले ही पता लग जाए कि आपका आने वाला सप्ताह कैसा होगा? यहां जानिए 27 सितंबर से 3 अक्टूबर 2020 का सप्ताहिक राशिफल जिससे आप अपना आने वाला कल बेहतर बना सकते हैं।

वहीं, आने वाले कल में 29 सितंबर से शनि मार्गी हो जाएगा। ग्रहों की युति देश के पक्ष में है। व्यापार में तेजी आएगी। मंदी में भी मामुली सुधार होगा। कुछ टैक्स भी कम हो सकते है। विदेशी निवेश की प्राप्ति के साथ उद्योगों को भी रफ्तार प्राप्त होगी।


मेष-

मंगल का गोचर एवं बुध की दृष्टि से कार्यों का विस्तार होगा एवं धन की प्राप्ति सुगम होगी। मार्गी शनि  खुशियों को लेकर आएगा। हफ्ते में कोई शुभ समाचार की प्राप्ति होगी तथा रूके कार्य में गति आएगी। संपत्ति का लाभ होगा। शुक्र-शनिवार के पूर्व सभी आवश्यक कार्य निपटा ले। हफ्ते में सावधानी रखनी होंगी। विवाद से बचे एवं किमती सामान की रक्षा करें।

प्रोफेशन-रोजगार प्राप्ति के अवसर मिलेंगे एवं व्यापार के लिए बाहर जाना पड़ सकता है।

शिक्षा-शिक्षकों के साथ वैचारिक तकरार हो सकती है। मित्रों के साथ वक्त बितेगा।

स्वास्थ्य-घुटनों में तकलीफ होगी एवं बाएं पैर के पंजें में दर्द होगा।

प्रेम-प्रेम का खट्टा अनुभव हो सकता है। वैवाहिक संबंध सुखमय रहेंगे।

क्या करें-महालक्ष्मी जी को  दूध या खीर का भोग लगाएं।



वृषभ-

राहु का गोचर एवं अनुकूल चंद्र। अधिमास खुशीयों को देने वाला एवं उमंग को बढ़ाने वाला होगा। स्वयं के कार्यो से संतुष्टि रहेंगी एवं आय भी पूर्व से बेहतर रहेंगी। घर एवं कार्यस्थल पर  आंतरिक कलह का अंत होगा। मित्रों से सहयोग मिलेगा। परिजन अनुकूल रहेंगे। शुक्र एवं शनिवार को आर्थिक लाभ में वृद्धि होंगी। अटका धन भी प्राप्त हो सकता है।

प्रोफेशन-तरल पदार्थों के व्यापारियों को लाभ होगा एवं नौकरी में अधिकारी संतुष्ट रहेंगे।

शिक्षा-शोध कार्यो के प्रति रूचि होगी एवं अध्ययन के लिए मुश्किल से समय मिल पाएगा।

स्वास्थ्य-पैरों में त्चचा संबंधी समस्या हो सकती है। आंखें भी परेशानी देगी।

प्रेम-प्रेम में कुंठा का शिकार हो सकते है एवं विवाद स्वयं उत्पन्न करेंगे।

क्या करें-यथाशक्ति विष्णुसहस्त्रनाम स्तोत्र का पाठ करें।


मिथुन-

गुरु की दृष्टि से उत्साह में वृद्धि होगी एवं विरोध करने वालों की साजिशों का अंत होगा। नए लक्ष्य मिलेंगे जो आसानी प्राप्त करने में सफल होंगे। मंगलवार से चंद्र की अनुकूलता की धन आवक को सुगम बनाएगी। हफ्ते में परिवार के साथ रहने का मौका प्राप्त होगा। न्यायलयीन मामलों में सफलता प्राप्त होंगी एवं भुमी भवन से लाभ प्राप्त होंगा।

प्रोफेशन-कारोबार विस्तार एवं नए रोजगार की प्राप्ति होगी। नौकरी में बदलाव संभव है।

शिक्षा-हर परिणाम पक्ष में ही आएगा। शिक्षक अनुकूल रहेंगे एवं मित्रों से सहयोग मिलेगा।

स्वास्थ्य-रोगों में सुधार होगा एवं उत्साह की वृद्धि होगी एवं स्फुर्ति रहेगी।

प्रेम-प्रेम में औपचारिकता रहेगी ज्यादा ध्यान नहीं रहेगा एवं वैवाहिक जीवन में साथी से सहयोग मिलेगा।

क्या करें-महाकाली को रक्तपुष्प अर्पण करें।


कर्क-

शनि-चंद्र पूर्ण  दृष्टि राशि पर बनाएंगा जो निर्णय लेने में बाधाएं उत्पन्न करेगा। नकारात्मकता हावी होने का प्रयास करेगी किंतु चंद्र की दृष्टि से कार्य साधने में सफल हो जाएंगे। सप्ताह मध्य में धन की कमी महसूस हो सकती है। अनावश्यक व्यय बढ़ सकते है, किंतु हफ्ते में पुन: आर्थिक सुधार हो जाएगा। कार्य की अधिकता होगी एवं नए काम भी प्राप्त होंगे।

प्रोफेशन-ज्यादा की अपेक्षाएं कम में ही काम चलाने का प्रयास करें एवं नौकरी में परिवर्तन का विचार त्याग दें।

शिक्षा-कक्षा में मन उचाट हो सकता है। अध्ययन के बजाए तकनीक सीखने पर जोर रहेगा।

स्वास्थ्य-मानसिक तनाव रहेगा एवं दाएं पैर में दर्द हो सकता है साथ ही इस जगह पर चोट का भय है।

प्रेम-प्रेम में साथी का व्यवहार अनुचित हो सकता है। वैवाहिक जीवन में कलह हो सकता है।

क्या करें-श्रीविष्णु का पूजन करें  एवं श्वेत पुष्प अर्पण करें।


सिंह-

आप ज्यादा जज्बाती हो सकते है एवं कभी-कभी अपनी ही बढ़ाई करने में इतने खो जाएंगे की सामने वाला आपसे बोर हो सकता है। आय के मामले सामान्य रहेंगे एवं चंद्र के अनुकूल होने से सप्ताहांत छोड़कर शेष सभी दिनों में कार्य निर्बाध गति से होंगे, आय में सुधार के साथ सहयोग प्राप्ति की अपेक्षाएं भी पूर्ण होंगी। राजनीतिज्ञों को पद प्राप्ति का योग भी है।

प्रोफेशन-नए व्यापार की शुरूआत हो सकती है। नौकरी में स्थायित्व रहेगा।

शिक्षा-संसाधनों की कमी से जूझना पड़ सकता है। शिक्षक सहयोग प्रदान करेंगे।

स्वास्थ्य-मुंह में छाले एवं पेट में जलन हो सकती है। रक्तचाप वाले सावधान रहे।

प्रेम-साथी से उपहार प्राप्त होगा एवं जीवन साथी बातों से मन खिन्न होगा।

क्या करें-हनुमानजी को सुंदरकांड का पाठ सुनाए।


कन्या-

अनुशासन भंग होने का भय है। आप जोरदार ढंग से कार्य की शुरूआत करेंगे, किंतु वह पूरा नहीं हो पाएगा। दिखावा करने की आदत रहेगी। चंद्र धन की आवक को मजबूत रखेगा, किंतु व्यय भी दोगुनी अधिकता से होगा। सूर्य विरोधियों को परास्त करने में सफलता प्रदान करेगा। सप्ताहांत सबसे बेहतर दिन रहेंगे। आय बढ़ने के साथ मदद की अपेक्षाएं पूर्ण होंगी।

प्रोफेशन-कारोबार में सलाह लेकर ही कार्य करें एवं नौकरी में जिम्मेदारी वृद्धि होंगी।

शिक्षा-शिक्षास्थल पर उद्दण्द हो सकते है, जो अनुचित फल देने वाले होंगे।

स्वास्थ्य-मानसिक चिंता एवं अधीरता रहेंगी एवं गले में खराश तथा कफ की समस्या हो सकती है।

प्रेम-जीवन साथी का साथ मिलेगा एवं प्रेम में निराशा प्राप्त होंगी। भावुक नहीं बने।

क्या करें-श्रीसिताराम नाम का 108 बार उच्चारण करें।


तुला-

मंगलवार के बाद से यह सप्ताह बहुत महत्वपूर्ण रहने वाला है। किसी बड़े कार्य को करने को अग्रसर होंगे एवं सफलता भी मिलेगी। स्वभाव धर्मिकता से पूर्ण रहेगा एवं प्रतिष्ठित लोगों से संरक्षण प्राप्त होगा। आर्थिक तंगी की समाप्ति होंगी एवं आय के नए स्रोतों की प्राप्ति होंगी। संतान से सुख प्राप्त होगा। नए कार्यो को करने का मन होगा। ठहराव समाप्त होगा।

प्रोफेशन-नए कारोबार की ओर अग्रसर होंगे एवं नौकरी में प्रमोशन के मौके प्राप्त होंगे।

शिक्षा-प्रतियोगिताओं एवं परिक्षाओं के सुखद परिणाम मिलेंगे। शिक्षक अनुकूल रहेंगे।

स्वास्थ्य-पूराने रोगों में सुधार होगा तथा पेट  संबंंधी गड़बड़ी हो सकती है।

प्रेम-प्रेम में कड़वाहट उत्पन्न हो सकती है। वैवाहिक जीवन में सुखद माहौल रहेगा।

क्या करें-हनुमानजी को रक्त पुष्प माला अर्पण करें।


वृश्चिक-

शनि-चंद्र तृतीय एवं मंगल की दृष्टि, कार्य सर्वश्रेष्ठ करवाएगा, किंतु आय पर्याप्त मात्रा में प्रदान करने वाला नही होंगा। अपने से श्रेष्ठ के प्रति आदर भाव की समाप्ति करवाएगा एवं असामाजिकता रह सकती है। व्यर्थ के कार्यो में समय व्यतीत होगा एवं यात्रा भी लाभदायक नही होगी। बुधवार से कार्य में सुधार होंगा एवं शुक्र एवं शनिवार को समय अच्छा व्यतीत होंगा।

प्रोफेशन-कार्यस्थपर सावधान रहें बेकार विचारों को छोड़कर काम पर ध्यान देना होगा।

शिक्षा-गुरूजनों के प्रति आदर भाव कम हो सकता है। पढ़ाई के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे।

स्वास्थ्य-क्लेश एवं चिढ़चिढ़ापन हो सकता है। घर के लोगों से बात-बात पर झगड़ा होगा।

प्रेम-जीवन साथी के प्रति नाराजगी रह सकती है एवं प्रेम में भी संतुष्टि नहीं रहेगी।

क्या करें-विष्णुलक्ष्मी का पूजन करें एवं बालिका को वस्त्र दान करें।


धनु-

राशि स्वामी गुरु का गोचर, विवादित मामलों में निर्णय पक्ष का रहेगा। किसी बड़े कार्य के बनने के आसार होंगे। निश्चित सफलता की प्राप्ति होंगी एवं संतान से सुख एवं सहयोग प्राप्त होगा। द्वितीय चंद्र आर्थिक आधार को भी मजबूत बनाएगा। रूके कार्यो में गति आएगी। सरकार से लाभ प्राप्त होगा। सप्ताहांत में उदासी का भाव रह सकता है। व्यय की अधिकता होगी।

प्रोफेशन-कारोबारी यात्रा का योग है एवं नौकरी में लक्ष्य प्राप्ति के साथ प्रमोशन के योग बनेंगे।

शिक्षा-कक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में सफल होंगे एवं अध्ययन में रूचि बनी रहेगी।

स्वास्थ्य-कमर एवं हाथ पैर में दर्द रहेगा। ऊंची जगहों पर चढ़ने से बचे।

प्रेम-विवाह योग्य को वैवाहिक प्रस्ताव मिलेंगे एव प्रेम में मजाक बन सकता हैं।

क्या करें-किसी निर्धन को अन्नदान करें।


मकर-

विषयोग का निर्माण हुआ है। चंद्र के गोचर से रूकावटों का अंत होगा एवं व्यवहार में निखार आएगा। लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल होंगे एवं निर्णय सटीक होंगे। चंद्र का गोचर होने से मन प्रसन्न रहेगा एवं परिवार से सहयोग मिलेगा। विवादित मामलों में पक्ष मजबूत होगा। नए लोगों से मुलाकात होगी। पद-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। जमीन के मामले सुलझेेंगे।

प्रोफेशन-व्यवसाय का विस्तार होगा। प्रोफेशनल्स के लिए विशेष सफलता।

शिक्षा-मित्रों के साथ पढ़ने की योजनाएं विफल हो सकती है। घर पर ही अध्ययन को समय दें।

स्वास्थ्य-दांतों में तकलीफ हो सकती है एंव रक्तचाप एवं हड्डीयों की समस्या हो सकती है।

प्रेम-साथी से मुलाकात होगी एवं संतान से विशेष खुशियों की प्राप्ति होगी।

क्या करें-शंकर पार्वती का पूजन करें एवं मिष्ठान्न भोग लगाएं।


कुंभ-

द्वादश चंद्र के गोचर के साथ आरंभ कठिनाई के साथ होगा। सहयोग भी नही मिल पाएगा। मंगलवार की सुबह से चंद्र के अनुकूल होते ही, बाधित कार्यो में गति आएंगी एवं हर्ष के साथ धार्मिक कार्यो में जाने का मौका मिलेगा। आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। गुरुवार श्रेष्ठ रहेगा एवं शुक्र एवं शनिवार को किसी नुकसान की संभावना नहीं है। प्रसन्नता बनी रहेगी।  

प्रोफेशन-कारोबारी यात्रा सफल होगी। रोजगार पाने का प्रयास सफल होगा।

शिक्षा-विद्यास्थल पर मित्रों के साथ अनुचित कार्यो में संल्गन हो सकते है। अध्ययन पर ध्यान दें।

स्वास्थ्य-क्रोध की अधिकता रहेगी एवं आंखों में तनाव हो सकता है। सरदर्द भी रहेगा।

प्रेम- प्रेम में विरह योग निर्मित हुआ है। वैवाहीक संबंध अनुकूल रहेंगे।

क्या करें-दुर्गा मंदिर में एक नारियल अर्पण करें।


मीन-

शनि की दृष्टि एवं  एकादश चंद्र से आरंभ होगा, यह सभी प्रकार से अनुकूल समय होगा। आय में वृद्धि एवं मदद की प्राप्ति कराएगा, किंतु मध्य में  कार्यो में परेशानी को महसूस करेंगें एवं दिखावे से बचने का प्रयास करें। स्वयं को स्थापित करने के लिए जूझना होगा एवं अध्यात्मिकता की ओर झुकाव होगा। गुरुवार से आर्थीक हालात सामान्य रहेंगेें। कार्य का क्रेडिट प्राप्त होगा।

प्रोफेशन-कार्यस्थल पर सामान्य समय रहेगा। विवादों को टालने का प्रयास करें।

शिक्षा-प्रयोग में सफलता मिलेगी एवं क्लास टेस्ट में भी श्रेष्ठतम को प्राप्त करेंगे।

स्वास्थ्य-दाएं कंधें में दर्द एवं पैर में चोट का भय है। अज्ञात भय रहेगा।  

प्रेम-मन विचलित हो सकता है एवं साथी प्रति ईमानदार नही रहेंगे।

क्या करें-माता-पिता को वस्त्रदान करें।

ऐसा क्यों-

मलमास के अन्य नाम क्या-

सौरमास और चांद्रमास का विनिगमक सावन काल है, उसे मानने से सौर एवं चंद्र मासो का अंतर ही अधिक मास होता है। वेदों (तैत्तरीय संहिता) में अधिक मास को संसर्प कहते है। बाजसनेय संहिता में अधिक मास को अंहस्पति और मलिम्लुच कहा गया है। व्याकरण शास्त्र के ज्ञाता भी मलिम्लुच  शब्द से मलमास बनाते है।

यहां देखिए साप्ताहिक राशिफल से जुड़ा वीडियो...


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT