कोरोना का नया वैरिएंट माना जा रहा है अधिक खतरनाक, 30 बार ऐसे बदल रहा है रूप

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ने लोगों की नाक में दम कर दिया है. भारत में जानिए इसको रोकने कौन-कौन से कदम उठाए जा रहे हैं.

  • 712
  • 0

एक बार फिर से कोरोना वायरस के नए वैरिएंट से पूरी दुनिया में सनसनी फैल गई है. जहां एक तरफ देशों में कोविड के मामले कम हो गए थे, लेकिन अब फिर से नए वैरिएंट ने हर किसी को बुरी तरह से डरा दिया है. ये नया वैरिएंट साउथ अफ्रीका में मिला है. ऐसा कहा जा रहा है कि ये तेजी से फैलने वाला वैरिएंट है. इसका म्यूटेशन 30 से ज्यादा बार हो चुका है. इस वैरिएंट को B.1.1.529 नाम दिया है.

इस वक्त इस वैरिएंट को लेकर पूरी दुनिया अलर्ट हो रखी है. यहां तक की भारत सरकारी की ओर से सभी राज्यों को इस मामले को लेकर एहतियात बरतने के लिए कहा है. गुरुवार के दिन स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड के नए वैरिएंट से प्रभावित देशों से आ रहे लोगों की स्क्रीनिंग के निर्देश तक जारी कर दिए गए हैं. यहां तक की देश में आने वाले सारे अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कोरोना जांच तक कराई जाएंगी. हालाकि वीजा पाबंदी में ढील और अंतरराष्ट्रीय ट्रैवल में छूट दी गई थी, ऐसे में इसको लेकर खास सतर्कता भी बरती जाने वाली है. यहां तक की रैपिड टेस्टिंग पर भी पूरा जोर दिया जाने वाला है.

इस वैरिएंट को लेकर डब्ल्यूएचओ के साथ वैज्ञानिकों की भी परेशानियां बढ़ गई है. 30 से ज्यादा बार म्यूटेशन बदलने से खतरा अधिक हो गया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दूसरी लहर में डेल्टा और डेल्टा प्लस वैरिएंट इसी तरह म्यूटेट होकर जानलेवा साबित होता हुआ दिखाई दिया था. सबसे ज्यादा ये चिंता की बात यहा है कि वैक्सीन इस वैरिएंट के खिलाफ कारगर है या नहीं, इसकी स्टडी तक की जा रही है.

LEAVE A REPLY

POST COMMENT