Delhi Monsoon: सितंबर में रिकॉर्ड तोड़ बारिश का अलर्ट, जानिए इस महीने मानसून के पीछे की असली वजह

राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को भारी बारिश के कारण रेल और सड़क संपर्क बुरी तरह प्रभावित हुआ. चाणक्यपुरी, कनॉट प्लेस, आईटीओ, जनपथ और रिंग रोड में डिप्लोमैटिक एन्क्लेव सहित शहर के कई हिस्सों में पानी भर गया,

  • 1040
  • 0

राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को भारी बारिश के कारण रेल और सड़क संपर्क बुरी तरह प्रभावित हुआ. चाणक्यपुरी, कनॉट प्लेस, आईटीओ, जनपथ और रिंग रोड में डिप्लोमैटिक एन्क्लेव सहित शहर के कई हिस्सों में पानी भर गया, जिससे राष्ट्रीय राजधानी में यातायात बाधित हो गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि दिल्ली में 24 घंटे में 112.1 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो बुधवार को सुबह 8.30 बजे समाप्त हुई, जो 19 साल में सितंबर में सबसे ज्यादा एक दिन में हुई बारिश है.


भारत में इस बार सितंबर में सामान्य से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है. रिसर्च के मुताबिक भारत में मानसून 17 सितंबर तक रहता है, उसके बाद इसका असर कम होने लगता है. लेकिन इस बार स्थिति विपरीत है, इस बार 17 सितंबर के बाद भी भारत में भारी बारिश की सूचना है. सफदरजंग मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, दिल्ली में बारिश ने रिकॉर्ड बनाया है. 2009 के बाद सितंबर में एक दिन पहले इतनी बारिश कभी नहीं हुई.


दिल्ली पुलिस ने ट्विटर हैंडल पर नागरिकों को सूचित किया, “ट्रैफिक अलर्ट. आजाद मार्केट सबवे पर प्रताप नगर की ओर जलजमाव के कारण यातायात बाधित. कृपया खिंचाव से बचें."

दिल्ली पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार लाजपत नगर मेट्रो स्टेशन, लाला लाजपत राय मार्ग मूलचंद बस स्टैंड, एम्स फ्लाईओवर के पास अरविंदो मार्ग, जंगपुरा मेट्रो के पास, एम्स से मूलचंद और रिंग रोड के पास मूलचंद रेड लाइट के पास जलभराव देखा गया. नेटिज़न्स ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी लिया और जलमग्न क्षेत्रों के दृश्य पोस्ट किए और जलभराव पर निराशा व्यक्त की.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT