पंजाब में विधायक दल की बैठक, 40 नाराज विधायकों की चिट्ठी के बाद चंडीगढ़ में आपात बैठक

पंजाब कांग्रेस इकाई में तकरार थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. कैप्टन अमरिंदर सिंह और प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मतभेदों के बीच पार्टी में फिर एक नई चिंगारी भड़की है.

  • 1152
  • 0

पंजाब कांग्रेस इकाई में तकरार थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) और प्रदेश इकाई के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच मतभेदों के बीच पार्टी में फिर एक नई चिंगारी भड़की है. कांग्रेस ने "बड़ी संख्या में विधायकों के प्रतिनिधित्व" का हवाला देते हुए, देर रात एक ट्वीट में पंजाब विधायकों की आज एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है. 


आपको बता दें यह बैठक मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के लिए परेशानी का सबब बन सकती है, क्योंकि करीब 40 से ज्यादा नाराज विधायकों ने उन्हें हटाने की मांग करते हुए पार्टी आलाकमान को चिट्ठी लिखी है.  कैप्टनन लंबे समय से बागी नेताओं के निशाने पर रहे हैं.हरीश रावत ने ट्वीट किया है कि कांग्रेस के तमाम विधायकों ने एआईसीसी से पंजाब कांग्रेस विधायक दल की बैठक तुरंत बुलाने का अनुरोध किया था. 

इसी कवायद में पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यालय में 18 सितंबर को शाम 5 बजे विधायक दल की बैठक बुलाई गई है. इस विधायक दल की बैठक में सभी विधायकों को अनिवार्य रूप से शामिल होने को कहा गया है. इसमें पर्यवेक्षक के तौर पर हरीश रावत और अजय माकन भी संभवतः उपस्थित होंगे. हरीश रावत ने इस ट्वीट के साथ कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को भी टैग किया है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT