दिल्ली के अलावा इन राज्यों में पड़ी कड़ाके की ठंड, ऐसे रखे आप अपनों का ख्याल

दिल्ली-एनसीआर में शीतलहर का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है यही नहीं हम जितना चाहे गर्म कपड़े क्यों न पहन लें फिर भी हमें ठंडी लगती ही है। ऐसे में हम बताएंगे कि सर्दियों के मौसम में आप खुद को कैसे रख सकते है सुरक्षित।

  • 2905
  • 0

दिल्ली-एनसीआर में शीतलहर का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। वही पहाड़ों पर लगातार जारी बर्फबारी के बीच मैदानी इलाकों में सर्दी का सितम देखने को मिल रहा है। यही नहीं जम्मू-कश्मीर में जहां पारा शून्य से नीचे चला गया है तो वहीं उत्तराखंड और हिमाचल में झील, झरने और तालाब जमने लगे है। इसके साथ-साथ कड़ाके की ठंड का असर राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर और मध्य भारत में पड़ रहा है। यही नहीं दिल्ली में इस बार रिकॉर्ड तोड़ ठंड जारी है। आपको बता दें कि गुरुवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान ने 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया तो वही अधिकतम तापमान सामान्य से 7 डिग्री कम 15 तक चला गया।  ऐसे में मौसम विभाग ने दिल्ली की कड़ाके की ठंड को देखते हुए हाई अलर्ट जारी किया है। यही नहीं सर्दियों के मौसम में आपको अपना ज्यादा से ज्यादा रख-रखाव करने की आवश्यकता है क्योंकि हम इस मौसम में ज्यादा बीमार होते है। ऐसे में इन सर्दियों के मौसम में बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है दिनभर चलने वाली सर्द हवाएं, घने कोहरे के कारण यह इंसान के साथ-साथ पशु-पक्षियों को भी अधिक प्रभावित करती है तो इस कपा देने वाली ठंडी में अक्सर हम सभी यही सोचते है कि सर्दियों की ठंड से खुद को कैसे बचाए। यही नहीं हम जितना चाहे गर्म कपड़े क्यों न पहन लें फिर भी हमें ठंडी लगती ही है तो चलिए आज हम बताएंगे कि सर्दियों के मौसम में आप खुद का कैसे करें सुरक्षित। 

1. ठंडी से बचने के लिए सबसे कारगर उपाय गर्म कपड़े ही होते है इसलिए सर्दियों में आपको हमेशा अपने पूरे शरीर को ढकने के लिए ऊनी कपड़ों का उपयोग करना चाहिए जिससे ठंड के प्रभाव को कम किया जा सकें।

2. सर्दियों के दिनों में सिर्फ जरुरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें क्योंकि अगर आप सर्दियों में बिना किसी काम के बाहर निकलेंगे तो आप ठंड की चपेट में आ सकते है और बीमार पड़ सकते है तो कोशिश यही करें कि आप घर से जब ही बाहर  निकले जब आपको कोई काम हो। 

3. सर्दियों के दिनों में जलती आग ठंडी से बचने का मुख्य सहारा होती है इसलिए हमें अपने घरों को गर्म रखने के लिए लकड़ियों का प्रयोग कर सकते है जिससे आप ठंडी के प्रभाव से बच सकते है। 

 4. ठंड से बचने के लिए आप अपने घरों की खिड़कियों, दरवाजों को बंद करके रखना चाहिए जिससे बाहर की ठंडी हवा घरों में कम आ सकें क्योंकि बंद खिड़कियां और दरवाजे बाहर की ठंडी हवा को आने से रोकते है जिससे आपको ठंड कम लगेगी।

 

5. सर्दियों के दिनों में जितना हो सके डेली नहाने से बचना चाहिए। यही नहीं आपको रोजाना नहाने के बजाय एक दिन छोडकर नहाना चाहिए जिससे आप ठंड में खुद को सुरक्षित रख सकते है। 

6. वैसे तो आजकल ठंडी से बचने के लिए ज्यादातर लोग अपने घरों में हीटर, गर्म करने वाली इलेक्ट्रॉनिक मशीन का उपयोग करते है। वही इन इलेक्ट्रॉनिक यंत्रों से जहा हमें सुविधा हुई तो है लेकिन इनके ज्यादा उपयोग से हेल्थ के दुष्टप्रभाव भी देखने को मिलते है। इसलिए हमें इन इलेक्ट्रॉनिक यंत्रों के बजाय प्राकृतिक तरीकों से ठंड से बचाव करना चाहिए। 

7. सर्दियों के दिनों में जब भी आप किसी काम से बाहर जाते है तो आपको अपने पूरे शरीर को ऊनी कपड़ों ढककर बाहर निकलना चाहिए जिससे आपको ठंडी कम लगेगी और आप ठंडी के प्रभाव से बचे रह सकते है। 

8. सर्दियों के मौसम में ठंडी खाने की चीजें जैसे दही,आइसक्रीम, ठंडे पेय प्रदार्थ आदि के सेवन से बचना चाहिए। इसके साथ ही आपको सर्दियों के मौसम के हिसाब से मिलने वाली हरी सब्जियों, फलों, सूप,गर्म पेय प्रदार्थ का उपयोग करना चाहिए जिसको खाने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा और ठंड में राहत भी मिलेगी।

9. ठंडी का असर सबसे ज्यादा बूढ़े, बच्चों और बीमार लोगों को होता है तो सर्दियों के मौसम में उनका खास ख्याल रखा जाता है। जहा तक संभव  हो सकें सर्दियों में उन सभी को बाहर नहीं निकलने देना चाहिए। इसके साथ ही उनके खान-पान का भी खास ध्यान रखना चाहिए।

10. सर्दियों के मौसम में ठंडी लगने पर सबसे ज्यादा सर्दी जुकाम, खांसी और बुखार का असर होता है इसलिए अगर सर्दी में आप इनसे प्रभावित होते है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। यही नहीं छोटे बच्चों को ठंडी के मौसम में निमोनिया का असर ज्यादातर देखने को मिलता ही है  इसलिए बिना कोई लापरवाही किए बिना तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए ताकि बच्चों को इससे बचाया जा सकें। 

by- asna zaidi 

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT