BSF सिपाही ने अपने ही साथियों की ली जान, जानिए कितने सैनिक हुए लहूलुहान कितनों की गई जान

अमृतसर के खासा में बीएसएफ मेस में गोली चलने से 5 की मौत हो गई. बीएसएफ जवान ने अपने ही साथियों पर ताबड़तोड़ गोलीबारी की. बीएसएफ जवान कॉन्स्टेबल सत्तेप्पा ने अपने साथियों को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली मार ली.

  • 972
  • 0

अमृतसर के खासा में बीएसएफ मेस में गोली चलने से 5 की मौत हो गई.  बीएसएफ जवान ने अपने ही साथियों पर ताबड़तोड़ गोलीबारी की. बीएसएफ जवान कॉन्स्टेबल सत्तेप्पा ने अपने साथियों को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली मार ली.

यह भी पढ़ें:दिल्ली हाई कोर्ट का फैसला, झगड़ालू प्रवृति की बहू को घर में रहने का अधिकार नहीं

क्या था पूरा मामला

आपको बता दें कि, देश के रक्षक ही देश के भक्षक बन चुके हैं. बीएसएफ जवान ने रविवार सुबह मेस में अपने साथियों पर तड़ातड़ गोली चलानी शुरू कर दी. इस दुखदायक  घटना में अब तक बीएसएफ के 5 जवानों की मौत हो गई है, गोली चलाने वाले बीएसएफ जवान कॉन्स्टेबल सत्तेप्पा ने अपने साथियों को गोली मारने के बाद खुद को भी गोली मार ली. वहीं इस घटना में गोली चलाने वाले सत्तेप्पा की भी मौत हो गई. बीएसएफ मेस में फायरिंग की खबर से लोगों में अफरा-तफरी का माहौल है. फायरिंग के बाद तुरंत सभी घायलों को गुरु नानक देव हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. डॉक्टरों की टीम ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू कर दी गई.

कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश
फायरिंग की घटना में जो जवान घायल हुए हैं, उनके परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. अमृतसर बीएसएफ मेस फायरिंग की घटना के बाद बीएसएफ अधिकारी ने कहा, यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. जिसमें हमारे कई जवान हो की मृत्यु हो गई. फायरिंग के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए गए हैं. इस घटना में मरने वाले जवानों में हेड कॉन्स्टेबल डीएस तोरसाकार, हेड कॉन्स्टेबल बलजिंदर कुमार, कॉन्स्टेबल रतन चांद भी शामिल है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT