एनिमल वेलफेयर के समर्थन में उतरे गिरिराज सिंह, बोले- 14 फरवरी को मनाया जाए ‘काउ हग डे’

केंद्रीय मंत्री ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यह बहुत अच्छा फैसला है लिया गया है. गायों से प्यार करना चाहिए और गले लगाना चाहिए.

  • 307
  • 0

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अपने बयानों के चलते लगातार समाचार की सुर्खियों में बने रहते हैं. गुरुवार को उन्होंने भारतीय पशु कल्याण बोर्ड का समर्थन करते हुए बड़ा बयान दे दिया. गिरिराज सिंह ने कहा कि 14 फरवरी को काउ हग डे मनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि सभी लोगों को गाय से प्यार करना चाहिए और गले लगाना चाहिए. उन्होंने कहा कि मुझे भी ऐसा लगता है कि 14 फरवरी के दिन वैलेंटाइन डे नहीं मनाना चाहिए क्योंकि उन चीजों से दूरी बनानी चाहिए जो समाज में विकृति पैदा करती हैं. 

मंत्री ने फैसले का किया था स्वागत 

केंद्रीय मंत्री ने संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि यह बहुत अच्छा फैसला है लिया गया है. गायों से प्यार करना चाहिए और गले लगाना चाहिए. मैं पुरुषोत्तम रुपाल जी के मंत्रालय के फैसले का स्वागत करता हूं. वहीं केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजना  ज्योति भी इस फैसले के समर्थन में उतर आईं. उन्होंने कहा कि इस फैसले का स्वागत है. गायों में 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास होता है. 

क्या कहा था ऐनिमल वेलफेयर? 

बता दें कि केंद्रीय मंत्री समाचार एजेंसी बातचीत करते हुए कहा, 'एक तरफ 14 फरवरी को पूरी दुनिया में वैलेंटाइन डे मनाया जाएगा, वहीं दूसरी तरफ एनिमल वेलफेयर सोसाइटी ऑफ इंडिया ने वैलेंटाइन डे से परेशान लोगों को एक और विकल्प दिया है वे चाहें तो काउ हग डे मना सकते हैं. उन्होंने कहा कि गाय विश्व की माता है और यह दुनिया का एकमात्र ऐसा जानवर है जिसका मूत्र और गोबर भी दवा का काम करता है. इसके स्पर्श मात्र से ही कई रोगों से छुटकारा मिल जाता है.'

साध्वी ज्योति ने भी किया था समर्थन 

साध्वी निरंजना ज्योति ने कहा कि गाय को हमारी माता माना जाता है और हमें उन्हें गले लगाना चाहिए. गाय हमें जन्म से मृत्यु तक दूध देती है, हम उसका दूध पीते हैं. उन्होंने कहा कि हमारी मां हमें 9 महीने के बाद गर्भ में रखती है और जब हम उन्हें माता के रूप में पूजते हैं तो गाय माता को क्यों नहीं पूज सकते? ‘वैदिक परंपरा’ और एक गाय से मिलने वाले कई लाभों की बात करते हुए भारतीय पशु कल्याण बोर्ड ने लोगों से 14 फरवरी को ‘काउ हग डे’ मनाने का आग्रह किया है, जिसे वेलेंटाइन डे के रूप में मनाया जाता है.

एनिमल वेलफेयर बोर्ड ने और क्या कहा?

दरअसल एनिमल वेलफेयर बोर्ड ने कहा था कि, गाय के अपार लाभों के कारण उसे गले लगाने से भावनात्मक समृद्धि आती है. साथ ही व्यक्तिगत और सामूहिक खुशी बढ़ती है. “इसलिए सभी गौ प्रेमी 14 फरवरी को गौ माता के महत्व को ध्यान में रखते हुए, जीवन को खुशहाल और सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर रखते हुए गाय हग दिवस के रूप में मना सकते हैं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT