ये है भारत के 12 ज्योतिर्लिंग जहां करते हैं भगवान शिव वास, शिवरात्रि पर करें यहां उनके Live दर्शन

महाशविरात्रि पर आप करें भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों के Live यहां दर्शन। जानिए क्या है उनके महत्व।

  • 3957
  • 0

आज हम सभी के देवों के देव महादेव और मां पार्वती का दिन है। आज ही के दिन दोनों शादी जैसे खूबसूरत और पवित्र रिश्ते में बंधे थे। भारत में भगवान शिव के अनेकों मंदिर आप सभी को देखने के लिए मिल जाएंगे। लेकिन 12 ज्योतिर्लिंगों का अपना ही खास महत्व है। धार्मिक मान्यताओं की माने तो 12 ज्योतिर्लिंगों में ज्योति रूप में भगवान शिव खुद ही विराजमान है। ये ज्योतिर्लिंग अलग-अलग जगहों पर मौजूद हैं। इनके दर्शन करने भर से ही पापों का नाश हो जाता है। आइए एक-एक करके जानते हैं देश में कहां-कहां मौजूद है भगवान शिव के वो 12 ज्योतिर्लिंग।

1. सोमनाथ ज्योतिर्लिंग (गुजरात)

पृथ्वी का पहला ज्योतिर्लिंग सोमनाथ ज्योतिर्लिंग को माना जाता है जोकि गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में मौजूद है। यहां पर देवताओं द्वारा बनवाया गया एक पवित्र कुंड तक मौजूद है, जिसे सोमकुंड या फिर पापनाशक तीर्थ के नाम से भी जाना जाता है।


2. मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग (आंध्र प्रदेश)

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग आंध्र प्रदेश में कृष्णा नदी के तट पर श्रीशैल नाम के पहाड़ पर मौजूद है।  


3. महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग (मध्य प्रदेश)

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मध्यप्रदेश के उज्जैन में मौजूद है। ये एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग है। यह जो भस्मारती होती है वो विश्वभर में प्रसिद्ध है। नीचे दिए गए वीडियो पर क्लिक करके देखिए लाइव दर्शन।


4. ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग (मध्य प्रदेश)

यह भगवान शिव के पावन धाम पर मौजूद है। जहां ये मौजूद है उस जगह पर नर्मदा नदी बहती है और पहाड़ी तके चारों तरफ नदी बहने से यहां  ॐ का आकार बनता है।


5. केदारनाथ ज्योतिर्लिंग (उत्तराखंड)

उत्तराखंड में हिमालय की केदार नाम की चोटी पर मौजूद है केदारनाथ ज्योतिर्लिंग। बाबा केदारनाथ का मंदिर बद्रीनाथ के मार्ग में स्थित है। 


6. भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग (महाराष्ट्र)

महाराष्ट्र के पूणे जिल में सह्माद्रि नाम के पर्वत पर भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग मौजूद है।


7.  बाबा विश्वनाथ (वाराणसी)

उत्तरप्रदेश  के वाराणसी शहर में बाबा विश्वनाथ का यह ज्योतिर्लिंग मौजूद है।


8. त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग (महाराष्ट्र)

महाराष्ट्र के नासिक जिल में त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग मौजूद है।  इसके पास एक ब्रह्मागिरि नाम का एक पहाड़ मौजूद है। इस पहाड़ से गोदावरी नदी की शुरुआत हुई थी।


9. वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग (झारखंड)

झारखंड प्रांत के संथाल परगना में जसीडीह रेलवे स्टेशन के पास वैद्यनाथ ज्योतिर्लिंग मौजूद है। इस धाम को चिताभूमि कहा जाता है। 


10. नागेश्वर ज्योतिर्लिंग (गुजरात)

गुजरात के बड़ौदा में गोमती द्वारका के करीब नागेश्वर ज्योतिर्लिंग मौजूद है। भगवान शिव को नागों का देवता बताया गया है। नागेश्वर का मतलब है नागों का भगवान। 


11. रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग (तमिलनाडु)

ग्यारहवां ज्योतिर्लिंग तमिलनाडु के रामनाथन नाम की जगह में मौजूद है, जिसका नाम है रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग। ऐसा कहा जाता है कि इस ज्योतिर्लिंग की स्थापना खुद भगवान श्रीराम ने की थी। भगवान द्वारा इसे स्थापित किए जाने  के चलते इस ज्योतिर्लिंग को भगवान राम का नाम रामेश्वरम दिया गया है।


12.  घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग (महाराष्ट्र)

महाराष्ट्र के संभाजीनगर के समीप दौलताबाद के पास घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग मौजूद है। ये भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से यह अंतिम ज्योतिर्लिंग है। इसे शिवालय भी कहा जाता है।


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT