56 साल बाद आया ऐसा अवसर, पीएम मोदी करेंगे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को संबोधित

56 साल बाद फिर से ऐसा अवसर आया है जब पीएम नरेंद्र मोदी एएमयू को संबोधित करने वाले हैं खास। जानिए इससे पहले किस नेता ने किया था ये काम।

  • 1791
  • 0

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी वर्ष के समारोह में कुछ ऐसे होने वाला है जोकि आज से 56 साल पहले हुआ था। दरअसल आज मुख्य अतिथि के दौरान पर नरेंद्र मोदी उनसे संबोधित करने वाले हैं। कोरोना वायरस के चलते उनका ये संबोधन ऑनलाइन होने वाला है। पीएम नरेंद्र मोदी के साथ-साथ केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस खास मौके का हिस्सा होने वाले हैं। इस कार्यक्रम के सबसे खास होने वाली वजह ये है कि 56 साल में ऐसा होगा कि देश के प्रधानमंत्री एएमयू के कार्यक्रम को संबोधित करेंगे।

आपको ये जानकार हैरानी होगी 1964 के वक्त उस समय के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री एएमयू का हिस्सा बने थे। उन्होंने दीक्षांत समारोह को संबोधित किया था। एएमयू प्रशासन ने पीएम नरेंद्र मोदी के संबोधन को लेकर अपनी पूरी तैयारियां कर ली है। एएमयू के दिए गए आधिकारिक बयान के मुताबिक इस खास मौके को यादगार बनाने के लिए पीएम नरेंद्र एक खास डाक टिकट को भी जारी करेंगे। 

आइए आपको बताते हैं कि आखिर कैसे होने वाला है सारा काम?

प्रशासन द्वारा सामने आई जानकारी के मुताबिक मंगलवार के दिन सुबह 10 बजे के वक्त कुरान ख्वानी के साथ कार्यक्रम शुरु हो चुका है। इन सबके बीच फिर सर सैयद एकेडमी के निदेशक अली मोहम्मद नकवी विश्वविद्यालय की 100 साल की उपलब्धियों को सबके सामने रखेंगे।

एएमयू वीमेंस कॉलेज की प्रिंसिपल प्रोफेसर नईमा खातून महिलाओं की शिक्षा में कॉलेज का क्या योगदान है इस पर बात करेंगी। विश्वविद्यालय के चांसलर भी अपने बात  व्यक्त करेंगे। फिर केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेशा पोखरियाल निशंक कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। बाद में फिर पीएम नरेंद्र मोदी एएमयू के 100 साल पूरे होने के मौके पर एक डाक टिकट जाररी करेंगे और कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। 

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT