ऑस्ट्रेलिया के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया से सम्मानित हुए रतन टाटा, देश ने जताई खुशी

ऑस्ट्रेलियाई राजदूत ने अपने ट्वीट में लिखा कि रतन टाटा की ओर से कारोबार, इंडस्ट्री और परोपकरी कार्यों के दिग्गज हैं, उनके योगदान ने भारत में ही नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया में भी काफी महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है।

  • 220
  • 0

भारत के लिए ये बहुत ही गर्व की बात है कि टाटा संस के चेयरमैन रतन टाटा को ऑस्ट्रेललिया का सबसे बड़ा और ऊंचा सम्मान ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया मिला है। खुद इस बात की घोषणा भारत में ऑस्ट्रेलिया के राजदूत बैरी ओ फेरोल ने ट्विटर के जरिए दी है। इतना बड़ा सम्मान रात टाटा को भारत-ऑस्ट्रेलिया के द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने की उनकी कोशिशों के लिए दिया गया है। दरअसल ऑस्ट्रेलियाई राजदूत की ओर से रतन टाटा को पुरस्कार से सम्मानित करते हुए फोटो शेयर की गई और कहा कि आईलैंड नेशन पर टाटा द्वारा दिए गए योगदान की छाप लंबे समय तक रहेगी।

दरअसल ऑस्ट्रेलियाई राजदूत ने अपने ट्वीट में लिखा कि रतन टाटा की ओर से कारोबार, इंडस्ट्री और परोपकरी कार्यों के दिग्गज हैं, उनके योगदान ने भारत में ही नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया में भी काफी महत्वपूर्ण प्रभाव डाला है। ऑस्ट्रेलियाई और भारतीय संबंधों के प्रति उनकी दीर्घकालिक प्रतिबद्धता के सम्मान में रतन टाटा को ऑर्डर ऑफ ऑस्ट्रेलिया सम्मान से सम्मानित करते हुए खुशी हो रही है।

इन पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके हैं रतन टाटा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रतन टाटा को 2008 में भारत सरकार की तरफ से दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार और पद्म विभूषण से भी सम्मानित से भी सम्मानित किया गया था। इसके अलावा अक्टूबर 2022 में आरएसएस से जुड़ी संस्था सेवा भारती की ओर से टाटा को 'सेवा रत्न' पुरस्कार दिया गया था। रत्न टाटा ने कितने महान काम किए है उनमे से एक कोरोना के दौरान देखने को मिला जब देश संकट में था। तब उन्होंने भारत सरकार को 1500 करोड़ रुपये का दान किया था। टाटा समूह अपनी आय का एक बड़ा हिस्सा अच्छे काम के लिए दान करता है।

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT