खुद ड्राइव कर मां से मिलने रुड़की आ रहे थे ऋषभ, रास्ते में हो गया भीषण हादसा,उत्तराखंड सरकार उठाएगी इलाज का खर्च

रुड़की के नारसन बॉर्डर पर हम्मदपुर झाल के पास एक मोड़ पर उनकी कार का एक्सीडेंट हुआ है. यह स्थान एक ब्लैक स्पॉट है और यहां दुर्घटना की आशंका हमेशा बनी रहती है. हादसे के बाद ऋषभ समय रहते कार का शीशा तोड़कर खुद बाहर निकल गए और देखते ही देखते कार में आग लग गई

  • 660
  • 0

टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की कार का एक्सीडेंट हो गया है. बता दें कि ऋषभ पंत दिल्ली से रुड़की अपने घर के लिए निकले थे, लेकिन रुड़की के नारसन बॉर्डर के पास उनकी कार रैलिंग से टकराई और प एक्सीडेंट हुआ इस हादसे में उनका टांग फ्रैक्चर आया है.हादसे के फौरन बाद पंत को देहरादून के लिए रेफर कर दिया गया. जहां उनकी प्लास्टिक सर्जरी की जाएगी. एक खबर में बताया गया है कि डॉक्टरों ने उनके पैर और माथे में चोट आने की बात कही है.

 नारसन बॉर्डर पर हुआ हादसा

रुड़की के नारसन बॉर्डर पर हम्मदपुर झाल के पास एक मोड़ पर उनकी कार का एक्सीडेंट हुआ है. यह स्थान एक ब्लैक स्पॉट है और यहां दुर्घटना की आशंका हमेशा बनी रहती है. हादसे के बाद ऋषभ समय रहते कार का शीशा तोड़कर खुद बाहर निकल गए और देखते ही देखते कार में आग लग गई. इसके बाद कार देखते ही देखते आग ने कार को अपने आगोश में लिया. 

खुद ड्राइव कर मां से मिलने रुड़की आ रहे थे ऋषभ

ऋषभ कार में अकेले थे और खुद ड्राइव कर मां से मिलने रुड़की आ रहे थे. इसके अलावा जिस स्थान पर एक्सीडेंट हुआ है वह ब्लैक स्पॉट भी है.

SP ग्रामीण हरिद्वार का बयान   

SP ग्रामीण किशोर ने कहा कि , सुबह करीब 6 बजे सूचना मिली की ऋषभ पंत के हादसे की सूचना मिली. रुड़की के सक्षम अस्पताल में उनका इलाज हुआ. उनको बेहतर इलाज के लिए देहरादून में मैक्स अस्पताल में भेजा गया है.

बीसीसीआई सचिव की ओर से जारी बयान में बताया गया है 

'भारतीय विकेट कीपर ऋषभ पंत की कार शुक्रवार को उत्तराखंड के रुड़की में दुर्घटनाग्रस्त हुई है. उन्हें सक्षम अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उन्हें प्राथमिक इलाज दिया गया. ऋषभ को माथे पर दो कट लगे हैं, दाएं पैर में लिगामेंट फटने के साथ ही दाईं कलाई, एड़ी, अंगूठे में चोट आई है. इसके साथ ही घिसटने की वजह से उनकी पीठ पर चोटें आई हैं. ऋषभ को अभी देहरादून के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी एमआरआई स्कैनिंग की जाएगी जिससे पता चले कि उन्हें कितनी चोटें आई हैं. और उनके उपचार की प्रक्रिया शुरू की जा सके. बीसीसीआई ऋषभ पंत के परिवार के संपर्क में है, और मेडिकल टीम उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों के संपर्क में है. बोर्ड ये सुनिश्चित करेगा कि ऋषभ पंत को बेहतरीन इलाज मिले ताकि वह इस दुर्घटना से पूरी तरह उबर सकें.'

रुड़की के सिविल अस्पताल में भर्ती 

 सड़क दुर्घटना के बाद पंत को रुड़की के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया.इस अस्पताल में उनका शुरुआती उपचार किया गया. इसके बाद उन्हें देहरादून स्थित मैक्स अस्पताल भेजा गया है.अब तक मिली जानकारी के मुताबिक़, मैक्स अस्पताल में प्लास्टिक सर्जन और हड्डी रोग विशेषज्ञ उनका इलाज़ कर रहे हैं. इसके साथ ही डॉक्टरों की एक टीम उनकी विस्तृत जांच कर रही है ताकि ये पता लगाया जा सके कि उन्हें किस प्रकार की चोटें आई हैं. हरिद्वार ग्रामीण के एसपी स्वप्न किशोर ने बताया है कि ये दुर्घटना शुक्रवार सुबह लगभग साढ़े पांच – छह बजे के आसपास हुई है. 

कुछ युवक ऋषभ के बैग से रुपए लेकर भाग गए

ऋषभ पंत ने कार का दरवाजा खोलकर खुद बाहर निकलने की कोशिश की, लेकिन वह घायल होने के कारण ऐसा नहीं कर पाए. उनके पास एक बैग भी था. ऋषभ के बैग में रुपये थे, कार पलटने पर कुछ रुपये बाहर सड़क पर बिखर गए, तभी वहां से गुजर रहे कुछ युवक इन्‍हें उठा ले गए.

पूर्व क्रिकेट कपिल देव ने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा है कि ये एक सबक जैसा है.

पूर्व क्रिकेट कपिल देव ने कहा, “इस हादसे से हमें सीख मिलती है कि हमें कोई ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे ऐसी दुर्घटना हो. ख़ास तौर पर इन खिलाड़ियों के लिए. मुझे अपना दौर याद है, मैं एक उभरता हुआ खिलाड़ी था तो मेरी मोटरसाइकिल का एक्सीडेंट हुआ, उसके बाद मेरे भाई ने मुझे कभी मोटरबाइक नहीं चलाने दी. इन चीजों से हमें सीखना चाहिए कि जो ऋषभ पंत के साथ हुआ है, वो किसी और के साथ न हो. ये भगवान का शुक्र है कि वो सही सलामत हैं. इन बड़े खिलाड़ियों को थोड़ा बहुत संभल कर रहना चाहिए. खुदगाड़ी चलाने की ज़रूरत नहीं है. क्योंकि आप ड्राइवर अफ़ोर्ड कर सकते हैं. मैं मानता हूं कि गाड़ी चलाने का शौक होता है. हर इंसान को शौक होता है कि मैं गाड़ी चलाऊं, ये लोगों का पैशन भी होता है. इस उम्र में ये होता है. लेकिन जब आपके ऊपर इतनी ज़िम्मेदारी होती है तो थोड़ा बहुत ध्यान रखना हमारे ऊपर निर्भर करता है.’

उत्‍तराखंड सरकार उठाएगी इलाज का सारा खर्च

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वाहन दुर्घटना में घायल क्रिकेटर ऋषभ पंत के बारे में अधिकारियों से जानकारी लेते हुए उनके समुचित इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने ऋषभ पंत के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए कहा कि उनके इलाज का सारा व्यय राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा. अगर एयर एंबुलेंस की आवश्यकता होती है, तो उसकी भी व्यवस्था की जाए.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT