कौन हैं केएन त्रिपाठी? खड़गे-थरूर-त्रिपाठी ने भरा पर्चा, त्रिकोणीय होगा मुकाबला?

सीनियर नेता और सांसद शशि थरुर ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नामांकन कर दिया गया है. आज दोपहर AICC ऑफिस पहुंचकर उन्होंने अपना नामांकन फाइनल किया. वहीं झारखंड कांग्रेस के नेता केएन त्रिपाठी ने भी पार्टी अध्यक्ष पद के लिए पर्चा भरा है.

  • 587
  • 0

कांग्रेस पद के चुनाव को लेकर स्थिति अब साफ होती दिख रही है. कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरुर ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए आज दोपहर AICC ऑफिस पहुंचकर अपना नामांकन फाइनल किया. वहीं झारखंड कांग्रेस के नेता केएन त्रिपाठी ने भी पार्टी अध्यक्ष पद के लिए पर्चा भरा है. नॉमिनेशन के बाद के बाद उन्होंने कहा कि पार्टी नेताओं के फैसले का सम्मन किया जाएगा. वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जून खड़गे ने भी नामांकन फाइल कर दिया है.

नामांकन फाइल करने से पहले खड़गे ने कहा कि, अभी नामांकन फाइल करने जा रहा हूं उसके बाद आकर बात करूंगा. वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने मल्लिकार्जून खडगे की सरहना की. दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने आगे कहा कि हमें उम्मीद है कि वे चयनित होंगे. हरियाणा से (भूपिंदर सिंह) हुड़ा साहब और मैंने प्रस्तावक के तौर पर उनके नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं.

जाने कौंन हैं केएन त्रिपाठी

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए होने जा रहे चुनाव के बीच अचानक एक ऐसे नेता ने एंट्री मार दी है, जिनकी पहचान अभी एक राज्य तक सीमित थी. झारखंड सरकार के पूर्व मंत्री और मेदिनीनगर निवासी केएन त्रिपाठी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने शुक्रवार को दिल्ली में अपना नामांकन दाखिला किया.  उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पद के चुनाव लड़ने के संबंध में पार्टी हाईकमान का जो आदेश होगा, उसका पालन करेंगे. नामांकन दाखिल करने के बाद उन्होंने कहा, ''मैंने आज पार्टी अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया है. पार्टी नेताओं का जो भी निर्णय होगा उसका सम्मान करेंगे.''

सियासत में आने से पहले कृष्णानंद त्रिपाठी एयरफोर्स में थे. सेना की नौकरी छोड़कर वह सियासत में आए और साल 2005 में कांग्रेस के टिकट पर पहली बार डालटनगंज सीट पर चुनाव लड़े. लेकिन इंदर सिंह नामधारी के हाथों उन्हें हार का सामना करना पड़ा. 2009 में फिर डालटनगंज सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरे और चुनाव जीते. विधायक बनने के बाद उन्हें राज्य सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री बनने का मौका मिला.  डालटनगंज के रेड़मा काशी नगर मोहल्ले के रहने वाले केएन त्रिपाठी किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT