नेपाल के पोखरा में विमान दुर्घटना में 5 भारतीय समेत 68 लोगों की मौत, दिल दहलाने वाला वीडियो आया सामने

नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (CAAN) के सूचना अधिकारी ज्ञानेंद्र भुल ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि मौसम की वजह से नहीं बल्कि विमान तकनीकी कारणों से दुर्घटना ग्रस्त हुआ है. जानकारी मिली है कि विमान में उस वक्त आग की लपटें देखी गईं जब वो हवा

  • 366
  • 0

नेपाल के पोखरा में रविवार को दर्दनाक विमान हादसा हो गया है. इस विमान हादसे ने सबको झकझोर कर रख दिया है. इस दुर्घटना में अब तक 68 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. सभी लोगों के शव को बरामद कर लिया गया है. हादसे में जान गंवाने वाले 5 भारतीय भी हैं. बता दें कि इस विमान में 68 यात्रियों समेत कुल 72 लोग सवार थे. यति एयरलाइंस की ATR-72 फ्लाइट पोखरा एयरपोर्ट पहुंचने से 10 सेकेंड पहले ही विमान दुर्घटना ग्रस्त हो गया. खास बात ये है कि नेपाल के इस पोखरा एयरपोर्ट का उद्घाटन 14 दिन पहले ही हुआ था. 

68 लोगों के मौत की पुष्टि

यति एयरलाइंस ने भी शाम को आधिकारिक बयान जारी कर 68 लोगों की मौत की पुष्टि की है. बयान के मुताबिक प्लेन में यात्रियों में 53 नेपाली, 5 भारतीय, 4 रूसी, 2 दक्षिण कोरियाई, 1 ऑस्ट्रेलिया, 1 फ्रेंच, 1 आयारिश और 1 अर्जेटीना का यात्री था. ये हादसा दिन में 11 बजकर 10 मिनट पर हुआ. ये विमान पोखरा घाटी में सेती नदी की खाई में गिर गया. 

नेपाल घुमने गए थे युवक

नेपाल प्लेन क्रैश में जान गंवाने वाले ये पांच युवक उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के रहने वाले थे. ये सभी युवक 13 जनवरी को नेपाल घूमने के लिए गए थे. इनकी पहचान अनिल राजभर, विशाल शर्मा, अभिषेक कुशवाहा, सोनू जयसवाल और संजय जयसवाल के रूप में हुई है. हादसे से पूर्व इन लोगों ने विमान के अंदर से फेसबुक लाइव किया था. ये सभी युवक अलावलपुर सिपाह और धरवा गांव के रहने वाले थे. 

वीडियो हो रहा है वायरल

सोशल मीडिया पर विमान क्रैश से थोड़े समय पहले का वीडियो भी वायरल हो रहा है. इसमें देखा जा सकता है कि आकाश साफ था और मौसम भी खराब नहीं था.   विमान क्रैश की जांच कर रही टीम के एक सदस्य ने समाचार एजेंसी को बताया कि वीडियो क्लिप के अनुसार विमान का ऊपरी हिस्सा थोड़ा ऊपर उठा और फिर उसके पंख बाईंओर झुक गए. ये एक एंगल हो सकता है. उन्होंने बताया कि जांच पूरी होने के बाद ही विमान क्रैश की असली वजह सामने आएगी. हालांकि, ऐसा लग रहा है कि गलत संचालन,  विमान प्रणाली की खराबी या पायलट की थकान की वजह हो सकता है.   

PM मोदी ने जताया दुख 

प्रधानमंत्री मोदी ने नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल 'प्रचंड' को टैग करते हुए एक ट्वीट के जरिए दुख जताया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'नेपाल में दुखद हवाई हादसे से आहत हूं, जिसमें भारतीय नागरिकों समेत कीमती जान चली गईं. दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं'.

जयशंकर और सिंधिया ने जताया दुख

उन्होंने कहा कि वे गोरखपुर के रास्ते पोखरा से भारत लौटने की योजना बना रहे थे. भारतीय नागरिकों में सबसे बड़े सोनू उत्तर प्रदेश के वाराणसी के रहने वाले थे. इस बीच, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विमान दुर्घटना पर दुख व्यक्त किया और कहा, "हमारी संवेदनाएं प्रभावित परिवारों के साथ हैं." जयशंकर ने एक ट्वीट में कहा, "नेपाल के पोखरा में विमान दुर्घटना के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ. हमारी संवेदनाएं प्रभावित परिवारों के साथ हैं." नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नेपाल में विमान दुर्घटना में लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया और इसे "बेहद दुर्भाग्यपूर्ण" करार दिया.

नेपाल के राजदूत ने बताया हादसे को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

भारत में नेपाल के राजदूत शंकर पी शर्मा ने पोखरा हादसे को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि एयरलाइंस द्वारा साझा की गई प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, विमान में 5 भारतीय थे, लेकिन विवरण अभी आना बाकी है.

तकनीकी कारणों से हुआ दुर्घटना का शिकार 

नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (CAAN) के सूचना अधिकारी ज्ञानेंद्र भुल ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि मौसम की वजह से नहीं बल्कि विमान तकनीकी कारणों से दुर्घटना ग्रस्त हुआ है. जानकारी मिली है कि विमान में उस वक्त आग की लपटें देखी गईं जब वो हवा में था.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT