कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों की मदद करना चाहते हैं तो इनसे करें संपर्क

कोरोना काल में अनाथ बच्चों की मदद के लिए आम नागरिक संगठनों के साथ आगे आ रहे हैं. नोएडा पुलिस ने भी ऐसे 15 बच्चों का समर्थन किया है.

  • 2768
  • 0

कोरोना काल में देश के अलग-अलग जगहों से लोगों की मौत की खबरें आई. वहीं ऐसी भी खबरें आई थीं कि घर में माता-पिता की मौत हो गई और बच्चे अनाथ हो गए. ऐसे अनाथ बच्चों की मदद के लिए आम नागरिक संगठनों के साथ आगे आ रहे हैं.  नोएडा पुलिस ने भी ऐसे 15 बच्चों का समर्थन किया है जो अपने माता-पिता की मौत के बाद अनाथ हो गए थे.

ये भी पढ़े:CBSE 12th Exam 2021: बोर्ड लेगा 12वीं की परीक्षा पर अहम फैसला आज, 11 बजे होगी बैठक


कोरोनाकाल के दौरान नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार सिंह की पहल पर ऐसे अनाथ बच्चों की मदद करने की पहल की शुरूआत की, जिनकी जिम्मेदारी डीसीपी वृंदा शुक्ला को सौंपी गई. चार बच्चों को एक डोनर मिला है जो इन बच्चों की शिक्षा और शिक्षा के साथ-साथ अन्य संभव सहायता प्रदान करेगा. इसके अलावा वे हर महीने बच्चों के खर्च के लिए पैसे भी देंगे. इनमें से दो बच्चों को उनके दादा-दादी के पास भेज दिया है. 

बच्चों की जानकारी के लिए इस नंबर पर करें संपर्क

वुमेन एंड चाइल्ड सेफ्टी डीसीपी वृंदा शुक्ला ने बताया कि कोरोना काल में कई लोग बेघर हो गए हैं. उन बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ता है जिनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है. यही वजह है कि नोएडा पुलिस ने यह पहल की है. अनाथ या बेसहारा बच्चों की पहचान कर तलाशी ली जा रही है नोएडा के पुलिस आयुक्त आलोक कुमार सिंह ने बताया कि नोएडा पुलिस ने अनाथ बच्चों की जानकारी और मदद के लिए इस हेल्पलाइन नंबर 9870395200 भी जारी किया है.


ये भी पढ़े:Asia के दूसरे सबसे अमीर बने Gautam Adani, PM को भी देते हैं किराए पर हेलीकॉप्टर

पुलिस कमिश्नर के मुताबिक जो कोई भी मदद करना चाहता है वह इस नंबर पर संपर्क कर सकता है. साथ ही ऐसे बच्चों की जानकारी नोएडा पुलिस को डायल 112 पर दी जा सकती है. उन्होंने बताया कि अगर घर में ऐसे बच्चे हैं जिनके माता-पिता दोनों कोरोना संक्रमित हैं. अगर उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है या खाने-पीने की कोई व्यवस्था नहीं है, तो पुलिस को इस हेल्पलाइन पर सूचित किया जा सकता है. पुलिस मदद के लिए तैयार है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT