RRB NTPC , Group D Exam : जानें कौन हैं पटना वाले खान सर, असली नाम अमित या फैजल या कुछ और, बना हुआ है रहस्य

पटना के रहने वाले खान सर एक बार फिर चर्चा में हैं. आप सभी को बता दें कि इस बार उन पर रेलवे भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों को हिंसक रूप से विरोध करने के लिए उकसाने का आरोप लगा है.

  • 1036
  • 0

पटना के रहने वाले खान सर एक बार फिर चर्चा में हैं. आप सभी को बता दें कि इस बार उन पर रेलवे भर्ती परीक्षा के उम्मीदवारों को हिंसक रूप से विरोध करने के लिए उकसाने का आरोप लगा है. उसके खिलाफ आरआरबी एनटीपीसी और ग्रुप डी भर्ती परीक्षा में छात्रों को उकसाने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है. साथ ही उन्होंने सभी आरोपों का जोरदार खंडन किया है. खान साहब कौन हैं, यह सवाल अब उठाया जा रहा है. तो आपको बता दें कि ऑनलाइन कोचिंग की दुनिया में वह काफी लोकप्रिय नाम हैं. जी हां, खान सर बिहार-यूपी समेत पूरे देश में जीएस के टॉपिक को देसी तरीके से समझाने के लिए मशहूर हैं.

असली नाम पर रहस्य

साथ ही वह अपने यूट्यूब चैनल 'खान जीएस रिसर्च सेंटर' पर करंट अफेयर्स या जीएस विषयों पर वीडियो बनाते रहते हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि उनके यूट्यूब चैनल के 14 मिलियन से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं. वैसे खान सर नाम से जाने जाने वाले युवक का असली नाम क्या है यह आज भी एक रहस्य बना हुआ है. कोई उनका नाम अमित सिंह बताता है तो कोई फैसल खान. आपको बता दें कि मई 2021 में न्यूज चैनल आजतक द्वारा दिए गए एक इंटरव्यू में खान सर के कुछ परिचितों ने उनका असली नाम फैसल खान बताया था. इंटरनेट पर एक वीडियो है जिसमें वह कह रहा है कि 'खान सर' एक जुगाड़ का नाम है, लोग हमें अमित सिंह कहते हैं.

यह भी पढ़ें :    क्रुणाल पांड्या का ट्विटर अकाउंट हुआ हैक, भेजे गए कई अटपटे मैसेज

वैसे खुद खान सर ने अभी तक अपना असली नाम क्या है इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की है. अब अगर हम फीस की बात करें तो आप खान सर द्वारा अपलोड किए गए जीएस और करंट अफेयर्स से जुड़े वीडियो यूट्यूब पर फ्री में देख सकते हैं. फिलहाल वह खान सर ऑफिशियल एप के जरिए बच्चों को ऑनलाइन कोचिंग दे रहे हैं. जी हां, और समय-समय पर होने वाली सरकारी भर्तियों के लिए वह बहुत ही कम फीस में ऑनलाइन कोचिंग देते हैं. उदाहरण के लिए आरआरबी एनटीपीसी भर्ती परीक्षा और ग्रुप डी भर्ती परीक्षा की तैयारी के लिए वह 250 रुपये शुल्क ले रहा है. इसके अलावा, उनके प्रत्येक बैच में एक हजार से अधिक बच्चे एक बार में कक्षाएं लेते हैं.

बेहद कम फीस

आपको बता दें कि वह महज 1000 रुपये में एनडीए-1 2022 परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. इसके साथ ही एसएससी जीडी कांस्टेबल भर्ती परीक्षा की कोचिंग फीस 150 रुपये रखी गई है. इसी तरह अधिकांश बैचों की फीस रुपये से लेकर रुपये तक है. 150 से 1000 रुपये तक. यही कारण है कि गरीब तबके के लाखों बच्चे अपने वीडियो और कक्षाओं के माध्यम से सरकारी नौकरी पाने के अपने सपने को पूरा करते हैं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT