ऋषभ पंत की हालत में सुधार, मिलने पहुंचे देवदूत बने दोनों लड़के

रजत और नीशु ने बताया कि कार एक्सीडेंट होने के बाद पंत के शरीर पर कपड़े नहीं थे. तब रजत और नीशु ने ही पंत को अपना गमछा और कंबल दिया. इसके बाद ऋषभ को एम्बुलेंस में रुड़की के सक्षम हॉस्पिटल ले गए. यहां पंत का प्राथमिक इलाज किया गया था

  • 469
  • 0

भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत की कार का रुड़की के पास 30 दिसंबर की सुबह भीषण एक्सीडेंट हो गया था. इलाज के लिए उन्हें फौरन देहरादून के मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. उनकी हालत में काफी सुधार है. बीते दिनों उन्हें आईसीयू से प्राइवेट वार्ड में शिफ्ट कर दिया था. पिछले 24 घंटे के अंतराल में दर्द से कुछ राहत है. मगर टखने व घुटने की एमआरआइ चौथे दिन भी नहीं हो पाई है. अस्पताल सूत्रों का कहना है कि दर्द व सूजन कम होने पर ही एमआरआइ की जाएगी.

रजत और नीशु पहुंचे पंत से मिलने पहुंचे

फिल्म स्टार और खेल जगत से लेकर फैंस तक ऋषभ से मिलने पहुंच रहे हैं.  इस बार ऋषभ पंत से मिलने अस्पताल में रजत और नीशु पहुंचे हैं, जो एक्सीडेंट के बाद पंत के लिए देवदूत बनकर आए थे. बता दें कि एक्सीडेंट के बाद रजत और नीशु ने ही ऋषभ पंत को नजदीकी अस्पताल में पहुंचाया था. यह बात उन्होंने ही बताई थी. राजन ने बताया कि दुर्घटना के बाद हमने जब उन्हें देखा तो उनकी हालत काफी गंभीर थी.

शरीर पर नहीं थे कपड़े 

रजत और नीशु ने बताया कि कार एक्सीडेंट होने के बाद पंत के शरीर पर कपड़े नहीं थे. तब रजत और नीशु ने ही पंत को अपना गमछा और कंबल दिया. इसके बाद ऋषभ को एम्बुलेंस में रुड़की  के सक्षम हॉस्पिटल ले गए. यहां पंत का प्राथमिक इलाज किया गया था. इसके बाद उन्हें देहरादून के मैक्स अस्पताल में रेफर किया गया था. 

मिलने वालों की भीड़ बढ़ा रही मुश्किल

मैक्स अस्पताल में भर्ती ऋषभ पंत को पर्याप्त आराम नहीं मिल पा रहा है. इसका कारण है उनका हाल जानने के लिए हर दिन अस्पताल पहुंच रही मुलाकातियों की भीड़. जिसे देखते हुए अस्पताल के चिकित्सकों ने भी अपील की है कि ऋषभ को आराम करने दिया जाए, ताकि उनकी रिकवरी जल्द हो सके.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT