उद्धव को छोड़ शिंदे खेमे में शामिल हो सकते हैं ये 12 सांसद, दी गई Y+ सुरक्षा

उद्धव ठाकरे को एक और बड़ा झटका, शिवसेना के संसद सदस्यों (एमपी) के प्रतिद्वंद्वी एकनाथ शिंदे खेमे में जाने की संभावना है. रिपोर्टों से पता चलता है कि शिवसेना के 18 सांसदों में से 12 ने शिंदे खेमे में जाने का मन बना लिया है.

  • 469
  • 0

उद्धव ठाकरे को एक और बड़ा झटका, शिवसेना के संसद सदस्यों (एमपी) के प्रतिद्वंद्वी एकनाथ शिंदे खेमे में जाने की संभावना है. रिपोर्टों से पता चलता है कि शिवसेना के 18 सांसदों में से 12 ने शिंदे खेमे में जाने का मन बना लिया है और आज राष्ट्रीय राजधानी में एक संवाददाता सम्मेलन में बड़ी घोषणा कर सकते हैं. संभावित स्विचओवर, महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे की दिल्ली यात्रा के बाद आता है, जहां उनके भाजपा के शीर्ष नेताओं से मिलने की उम्मीद है. मुख्यमंत्री बनने के बाद शिंदे का यह दूसरा दिल्ली दौरा है.

एक प्रमुख दैनिक के अनुसार, सांसदों ने स्पीकर ओम बिरला को भी अपनी योजनाओं के बारे में लिखा है. उन्होंने अध्यक्ष को सूचित किया है कि पार्टी के मुंबई दक्षिण मध्य सांसद राहुल शेवाले के नेतृत्व में सदन में एक अलग शिवसेना समूह का गठन किया जाएगा. राज्यसभा में शिवसेना के कुल 19 सांसद हैं, जिनमें से 18 अकेले महाराष्ट्र से आते हैं.  शिंदे के संपर्क में आने वाले 12 सांसद हैं- धैर्यशील संभाजीराव माने, सदाशिव लोखंडे, हेमंत गोडसे, हेमंत पाटिल, प्रतापराव गणपतराव जाधव, कृपाल तुमाने, भावना गवली, राजेंद्र गावित, संजय मांडलिक, श्रीकांत शिंदे, श्रीले बार्न, राहुल शेवार .

शिवसेना के बागी सांसदों के लिए Y+ सुरक्षा कवच

खबरों के मुताबिक, उद्धव खेमे से नाता तोड़ने वाले शिवसेना के 12 सांसदों को वाई-लेवल सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही जा रही है. यदि 12 सांसद स्विचओवर करते हैं, तो पार्टी को अस्तित्व के खतरे का सामना करना पड़ेगा क्योंकि प्रतिद्वंद्वी खेमा भी मूल पार्टी चिन्ह के स्वामित्व का दावा करेगा. शिंदे खेमे में उद्धव खेमे के ज्यादातर विधायक पहले ही हार चुके हैं. 55 विधायकों में से 35 से अधिक विधायक पहले ही महा विकास अघाड़ी गठबंधन को नीचे ला चुके हैं. कई शिवसेना पार्षदों ने भी शिंदे खेमे के पीछे रैली की और सेना के विद्रोहियों के प्रति अपनी निष्ठा की कसम खाई.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT