मध्य प्रदेश बना भारत का सबसे स्वच्छ राज्य, इंदौर ने लगाया छक्का

स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के परिणामों में मध्य प्रदेश देश का सबसे स्वच्छ राज्य बन गया है. राजस्थान और महाराष्ट्र को पछाड़ दिया है.

  • 300
  • 0

स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के परिणामों में मध्य प्रदेश देश का सबसे स्वच्छ राज्य बन गया है. राजस्थान और महाराष्ट्र को पछाड़ दिया है. इसके साथ ही इंदौर देश के सबसे स्वच्छ शहरों में नंबर-1 बन गया है. यह लगातार छठी बार जीता है. गारबेज फ्री सिटी में इंदौर को भी 7 स्टार मिले हैं. भोपाल 7वीं रैंक से 6वीं रैंक पर आ गया है. भोपाल को 5 स्टार रेटिंग भी मिली है.

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हाथों स्वच्छता पुरस्कार

इंदौर के सांसद शंकर लालवानी, मेयर पुष्यमित्र भार्गव और नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हाथों स्वच्छता पुरस्कार ग्रहण किया. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और कौशल किशोर भी मौजूद थे. इधर, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर मध्यप्रदेश की पूरी टीम और इंदौर की जनता को बधाई दी है.

स्वच्छ सर्वेक्षण के पुरस्कार

यहां इंदौर के कई इलाकों में एलईडी स्क्रीन लगाई गई. जिस पर सीधा प्रसारण किया गया. दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में स्वच्छ सर्वेक्षण के पुरस्कार समारोह में इंदौर में छठी बार स्वच्छता में नंबर 1 का खिताब जीतते ही इंदौर में खुशी का माहौल है.

डिजिटल ट्रैकिंग सिस्टम लागू

सर्विस लेवल प्रोग्रेस में 40 प्रतिशत यानी 3000 अंक रखे गए थे. इसके तहत यह देखा गया कि डिजिटल ट्रैकिंग सिस्टम लागू हुआ या नहीं. इसमें स्वच्छता संबंधी व्यवस्था, स्वच्छता एप और सफाई मित्र सुरक्षा को भी जोड़ा गया है. इसके अलावा कचरा उठाने की भी जानकारी है. काम कैसे किया जा रहा है. इस पर भी चर्चा हुई। इनमें इंदौर अव्वल रहा.

साफ-सफाई इंदौर के लोगों की आदत बन गई है. शहर या बाहर का कचरा अब कूड़ेदान में ही डाला जाता है. इस प्रणाली को न केवल शहर के जिम्मेदार नागरिकों द्वारा आत्मसात किया गया है, बल्कि नागरिक प्रोटोकॉल के तहत पूरे शहर के लिए भी लागू किया गया है. हर नागरिक भी इसका पालन करने को तैयार है. सड़क पर गंदगी फैलाने के लिए बच्चे द्वारा बाधित किए जाने जैसे अनगिनत दृश्य यहां देखने को मिलते है. अब स्वच्छता का दूसरा नाम इंदौर भी हो गया है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT