वैक्सीनेट लोगों पर भी ओमिक्रॉन का खतरा, डॉक्टर ने किया आगाह

कोरोना का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट दुनिया के सामने एक नई समस्या बन गया है. WHO का दावा है कि नया ओमिक्रॉन वैरिएंट उन लोगों को आसानी से संक्रमित कर सकता है जो पहले ही संक्रमित हो चुके हैं. देखिए इसके लक्षण.

  • 945
  • 0

कोरोना का नया ओमिक्रॉन वेरिएंट दुनिया के सामने एक नई समस्या बन गया है. इसकी गंभीरता, संचरण दर और लक्षणों को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं. WHO का दावा है कि नया ओमिक्रॉन वैरिएंट उन लोगों को आसानी से संक्रमित कर सकता है जो पहले ही संक्रमित हो चुके हैं. साथ ही, जिन लोगों को टीके की दोनों खुराकें मिली हैं, वे भी ओमिक्रॉन से सुरक्षित नहीं हैं. आने वाले कुछ दिनों या हफ्तों में ये साफ हो जाएगा कि ओमिक्रॉन वेरिएंट कितना खतरनाक है. अब तक दुनियाभर के डॉक्टर और वैज्ञानिक भी ओमिक्रॉन में कई लक्षण दिखने का दावा कर चुके हैं.

ये भी पढ़ें:-Delhi: छात्रों पर चाकू से हमला, पीछा कर के बरसाए लाठी-डंडे

रात को पसीना और शरीर में दर्द- दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य विभाग के जनरल प्रैक्टिशनर डॉ. उनबेन पिल्ले का कहना है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों को रात में पसीने की शिकायत हो सकती है. कभी-कभी रोगी को इतना पसीना आता है कि उसके कपड़े या बिस्तर भी गीला हो सकता है. संक्रमित व्यक्ति को ठंडी जगह पर भी पसीना आ सकता है. इसके अलावा रोगी को शरीर में दर्द की भी शिकायत हो सकती है.

सूखी खांसी और शरीर में दर्द-  डॉ. उनबेन पिल्ले का कहना है कि उन्होंने ओमिक्रॉन  से संक्रमित एक मरीज में सूखी खांसी के लक्षण भी देखे हैं. ये लक्षण अब तक कोरोना के सभी पुराने स्ट्रेन में देखे गए हैं. इसके अलावा बुखार और मांसपेशियों में दर्द भी ओमाइक्रोन के लक्षण हो सकते हैं.

गले में खराश- इससे पहले, दक्षिण अफ्रीका के एक डॉक्टर एंजेलिक कोएत्ज़ी ने ओमिक्रॉन से संक्रमित लोगों में गले में खराश के बजाय गले में खराश देखने का दावा किया था, जो असामान्य है. ये दोनों लक्षण लगभग एक जैसे हो सकते हैं. हालांकि गले में खराश की समस्या ज्यादा दर्दनाक हो सकती है.

हल्का बुखार- किसी भी तरह के कोरोना के साथ हल्का या तेज बुखार की शिकायत लगातार आती रही है. डॉ. कोएत्ज़ी का कहना है कि ओमाइक्रोन संक्रमण में रोगी को हल्का बुखार हो सकता है और इसमें शरीर का तापमान अपने आप सामान्य हो जाता है.

थकान- पिछले सभी वेरिएंट की तरह, ओमिक्रॉन भी रोगी को बहुत थका हुआ महसूस करा सकता है. इसमें संक्रमित व्यक्ति का एनर्जी लेवल काफी कम हो जाता है. शरीर में दिख रहे इस लक्षण को नजर अंदाज करने की बजाय तुरंत कोविड-19 की जांच कराएं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT