लखीमपुर खीरी हत्याकांड के खिलाफ किसानों का रेल रोको आंदोलन

लखीमपुर खीरी में किसानों की हत्या के बाद किसान संगठन आज बबूला हो उठी है. जिसके वजह से संयुक्त किसान मोर्चा ने आज सोमवार को सुबह 10 बजे से लेकर शाम के 4 बजे तक रेल रोको प्रदर्शन करेंगे.

  • 1359
  • 0

लखीमपुर खीरी  में किसानों की हत्या के बाद किसान संगठन आज बबूला हो उठी है. जिसके वजह से संयुक्त किसान मोर्चा ने आज सोमवार को सुबह 10 बजे से लेकर शाम के 4 बजे तक रेल रोको प्रदर्शन करेंगे.  संयुक्त किसान मोर्चा ने यह  आंदोलन करने का फैसला इसलिए भी किया है क्योकि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी को उनके पद से हटाया जा सके.आंदोलन को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा संगठन ने रविवार को कहा कि वह लखीमपुर खीरी हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किए गए मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा को हटाने की मांग को लेकर छह घंटे का राष्ट्रव्यापी रेल रोको आंदोलन करेंगे.

संघ का बयान  

संघ ने एक बयान में कहा, "अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और गिरफ्तारी की मांग पर दबाव बनाने के लिए, ताकि लखीमपुर खीरी हिंसा में न्याय सुरक्षित किया जा सके, एसकेएम ने 18 अक्टूबर को एक राष्ट्रव्यापी रेल रोको कार्यक्रम की घोषणा की है।" इस वजह से ट्रेनों का आना जाना प्रभावीर हो सकता है. संघ ने यह भी कहा है कि किसी भी रेलवे संपत्ति को नुकसान या क्षति नहीं होगी.

यह है पूरा मामला 

3 अक्टूबर को, लखीमपुर खीरी में चार किसानों सहित आठ लोगों की मौत हो गई थी, क्योंकि केंद्रीय मंत्री की कार के कथित तौर पर चार किसानों के कुचल जाने के बाद हिंसा भड़क गई थी. हिंसा में एक पत्रकार सहित अन्य चार लोगों की मौत हो गई थी. मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा इस मामले में मुख्य आरोपी हैं क्योंकि प्राथमिकी में कहा गया है कि जब यह हुआ तब वह कार के अंदर थे. उन्हें एसआईटी ने गिरफ्तार किया था, हालांकि उन्होंने अपना रुख बनाए रखा कि वह घटना के समय कार में नहीं थे. कांग्रेस भी मंत्री को हटाने की मांग कर रही है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT