कोरोना का बुरा हाल, जनता है बेहाल, अस्पताल में बेड नहीं है तो जमीन पर हो रहा है इलाज़

राजधानी दिल्ली में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच सबसे बड़ा संकट खड़ा हो गया है. वही कोविड मामलों की बढ़ती रफ्तार के बीच दिल्ली-महाराष्ट्र जैसे राज्यों में बेड्स की कमी हो गई है.

  • 1929
  • 0

कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है जिसके चलते हालात बिल्कुल बेकाबू होते जा रहे हैं. वही कोरोना वायरस का संकट एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है. देश में बीते दिन 1.68  लाख केस दर्ज किए गए हैं. मामलों की बढ़ती रफ्तार के बीच दिल्ली-महाराष्ट्र जैसे राज्यों में बेड्स की कमी हो गई है. दिल्ली में करीब 17 बड़े अस्पताल ऐसे हैं, जहां पर एक भी कोरोना स्पेशल बेड नहीं है. राजधानी में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच सबसे बड़ा संकट खड़ा हो गया है.

ये भी पढ़े:हरिद्वार कुंभ में कोरोना नियमों की उड़ी धज्जियां, कई साधु पाए गए पॉजिटिव

देश की राजधानी दिल्ली में एक दिन में कोरोना के मामलों की संख्या 10 हजार पार जाने का असर दिखने लगा है. राजधानी के बड़े प्राइवेट हॉस्पिटल में बेड्स की किल्लत हो रही तो एक दर्जन से ज्यादा प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना बेड्स की संख्या शून्य हो गई है.दिल्ली सरकार की कोरोना एप के मुताबिक 12 अप्रैल दोपहर 1 बजे तक 17 बड़े प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना बेड्स की संख्या शून्य हो गई है यानी इन अस्पतालों में सामान्य कोरोना मरीज के लिए एक भी कोरोना बेड उपलब्ध नहीं है.

यूपी- महाराष्ट्र का भी बुरा हाल

सिर्फ दिल्ली में ही नहीं बल्कि देश के अन्य राज्यों में भी बेड्स को लेकर मारामारी मच गई है. उत्तर प्रदेश के स्वास्थय मंत्री जय प्रताप सिंह ने माना है कि यूपी में बेड्स को लेकर संकट है. उन्होंने कहा कि अचानक से इतने सारे केस बढ़ जाएंगे, उसके लिए हम तैयार नहीं थे. लेकिन अब जल्द से जल्द कोरोना  बेड्स, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन वाले बेड्स की संख्या बढाई जा रही हैं.

ये भी पढ़े:आर्मी ऑफिसर ने 14 दिन में साइकिल से नापी 6000Km की दूरी,बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

बता दें कि बीते दिन महाराष्ट्र से भी यही आकड़ा सामने आया था. महाराष्ट्र में करीब एक दर्जन जिले ऐसे है, जहां एक भी कोरोना बेड्स खाली नहीं  हैं. साथ ही प्रदेश में करीब 75 फीसदी आईसीयू बेड्स भर चुके हैं. 40 फीसदी से अधिक ऑक्सीजन बेड्स भी भर चुके हैं. महाराष्ट्र के लिए चिंता इसलिए भी है क्योंकि यहां 6 लाख के करीब एक्टिव केस हो गए है और हर दिन संख्या बढ़ रही है.

गुजरात में  दिखी भयावह स्थिति


सोशल मीडिया पर वायरल हुई इस वीडियो में भावनगर, गुजरात के एक हॉस्पिटल की भयावह स्थिति दिख रही है. कई पेशेंट जमीन पर पड़े हैं, जबकि स्ट्रेचर पर ही अपना नंबर आने का वेट कर रहे हैं.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT