Russia-Ukraine War: शेयर बाजार में छाया मातम, सेंसेक्स 2700 और निफ्टी 815 अंक गिरकर हुआ बंद

तेल की कीमतें, जो रूस यूक्रेन संघर्ष पर हाल के हफ्तों में लगातार बढ़ रही हैं, इस डर से 100 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गई कि प्रतिबंध रूस के कच्चे तेल के निर्यात को प्रभावित कर सकते हैं.

  • 603
  • 0

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन में एक सैन्य अभियान की घोषणा के बाद गुरुवार सुबह भारतीय शेयर बाजार क्रैश कर गई. रूसी राष्ट्रपति के घोषणा के तुरंत बाद, यूक्रेन की राजधानी कीव में बड़े विस्फोटों की सूचना मिली थी. रूस पर अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों ने भी पुतिन को युद्ध की घोषणा करने से नहीं रोका.

ये भी पढ़ें:- रूसी धमाकों से दहल उठा यूक्रेन, देखें तस्वीरें और वीडियो

रूस-यूक्रेन की लड़ाई एक लंबा संघर्ष है जो फरवरी 2014 में भूराजनीतिक मुद्दों पर शुरू हुआ था और अब स्थिति खतरनाक हो गई है. तेल की कीमतें, जो रूस यूक्रेन संघर्ष पर हाल के हफ्तों में लगातार बढ़ रही हैं, इस डर से 100 डॉलर प्रति बैरल को पार कर गई कि प्रतिबंध रूस के कच्चे तेल के निर्यात को प्रभावित कर सकते हैं. यह देखते हुए कि भारत अपनी तेल आवश्यकताओं का 80% से अधिक आयात करता है, यह विकास देश के लिए एक बड़ी गिरावट है.

ये भी पढ़ें:- डेटा खत्म होने के बाद कैसे चलेगा मोबाइल में इंटरनेट, जानिए नया तरीका

इसके अलावा, रूस-यूक्रेन संकट का भारतीय परिवारों के साथ-साथ नीति निर्माताओं पर भी भारी प्रभाव पड़ा है. भारत के सूरजमुखी तेल आयात में यूक्रेन और रूस का कुल योगदान 90% है. इसके बाद, अन्य एशियाई बाजारों में भारतीय बाजार सबसे ज्यादा प्रभावित हुए. दरअसल, कारोबार के पहले घंटे में बीएसई लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैपिटलाइजेशन में 103 अरब डॉलर की गिरावट आई है. एक पूर्ण युद्ध की खबर ने इक्विटी बाजारों को बुरी तरह प्रभावित किया है जो पहले से ही एफआईआई की लगातार बिकवाली, ब्याज दरों में गिरावट, ईंधन की ऊंची कीमतों और बढ़ती मुद्रास्फीति जैसे कारणों से जूझ रहे थे.

ये भी पढ़ें:- महेंद्र सिंह धोनी ने की 'बॉलीवड के खिलाड़ी' अक्षय कुमार से मुलाकात, फोटो वायरल

रूस और यूक्रेन के बीच बढ़ती स्थिति और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण घरेलू शेयर बाजारों में गुरुवार की सुबह तीन प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई और वैश्विक शेयर बिकवाली में शामिल हो गए. सुबह 10.20 बजे इंट्रा-डे ट्रेड में बेंचमार्क सेंसेक्स 1,668 अंकों की गिरावट के साथ 55,563.92 पर और एनएसई निफ्टी इंडेक्स 488 अंकों की गिरावट के साथ 16,574.80 पर कारोबार कर रहा था. यूक्रेन में लंबे समय तक संकट की आशंका और भारतीय अर्थव्यवस्था पर इसके प्रभाव से चिंतित निवेशकों ने अपने पदों में कटौती कर दी है. सेंसेक्स 1,800 अंक की गिरावट के साथ कारोबार के लिए खुला. आईटी, टेलीकॉम, रियल्टी, ऑटो और मेटल शेयरों में चार फीसदी तक की गिरावट के साथ सभी सेक्टोरल इंडेक्स लाल निशान में हैं.

आज का कारोबार बंद होने पर सेंसेक्स 2788 अंकों की गिरावट के साथ 54,445 तो निफ्टी 842 अंकों की गिरावट के साथ 16,218 अंकों पर बंद हुआ है. 

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT