भारत में कोरोना के XE वेरिएंट का पहला मामला, जानिए कितना है खतरनाक

भारत में कोरोना वायरस के XE वेरिएंट का एक ताजा मामला सामने आया है. जो अन्य वेरिएंट के मुकाबले 10 गुना ज्यादा संक्रामक है और लोगों को तेजी से अपनी चपेट में ले रहा है.

  • 560
  • 0

भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और देश में रोजाना 2 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे है. ऐसे में XE वेरिएंट का प्रभाव भी चरम पर है. वहीं भारत में इस वेरिएंट का ताजा मामला सामने आया है.


साल 2019 में आया पहला मामला
आपको बता दें कि, कोरोना वायरस के XE वेरिएंट का पहला मामला साल 2019 जनवरी को ब्रिटेन में मिला था. XE वेरिएंट अन्य वेरिएंट के मुकाबले 10 गुना ज्यादा संक्रामक है और लोगों को तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा है. सूत्रों के अनुसार, कोविड 19 का XE वेरिएंट दो अलग-अलग वेरिएंट के मिलने से बना है. पहला है ओमिक्रॉन बीए 1 और दूसरा बीए 2 है. इन्हीं दो वेरिएंट के मिलने से XE वेरिएंट बना है.
XE वेरिएंट के लक्षण
मिली जानकारी के अनुसार, यह ओमिक्रॉन के दो सब वेरिएंट से मिलकर बना है. इसलिए इसके लक्षण भी ओमिक्रॉन से मिलते-जुलते हो सकते है. जैसे बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, बदन दर्द, सिरदर्द, गले में खराश और नाक बहना XE वेरिएंट के लक्षण हो सकते है. इसके अलावा XE वेरिएंट के कुछ अन्य लक्षणों में थकान, चक्कर आना, धड़कन, सूंघने और स्वाद में कमी बढ़ना भी शामिल है. अगर किसी में ये लक्षण नजर आए तो उन्हें तुरंत जांच करानी चाहिए.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT