एक बार फिर पुलिस सीआरपीएफ के जवानों को आतंकियों ने बनाया निशाना

कश्मीर के सोपोर में आतंकियों ने पुलिस और सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाया है. इस हमले में दो जवान शहीद हो गए थे. इसके अलावा दो नागरिकों की भी मौत हुई है.

  • 2651
  • 0

कश्मीर के सोपोर में आतंकियों ने पुलिस और सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाया है. इस हमले में दो जवान शहीद हो गए थे. इसके अलावा दो नागरिकों की भी मौत हुई है.  हालांकि इस बारे में अभी तक कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है.  वहीं एक अधिकारी ने बताया कि सोपोर के आरामपोरा में तैनात सीआरपीएफ की पुलिस और नाका पार्टी को निशाना बनाते हुए आतंकियों ने फायरिंग की.

ये भी पढ़े:Horoscope: आज इन राशि के लोगों को मिलेगी बड़ी सफलता, जानिए आज का राशिफल

{{img_contest_box_1}}

इस हमले में दो जवान शहीद हो गए हैं. आतंकवादियों ने दो स्थानीय नागरिकों की भी जान ले ली। साथ ही एक पुलिस वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. हमले के बाद आतंकी भाग गए. हमलावरों को पकड़ने के लिए इलाके की घेराबंदी कर व्यापक तलाश अभियान चलाया जा रहा है. इससे पहले शुक्रवार को शोपियां के लिटर अगलर इलाके में तैनात आतंकियों ने नाका पार्टी और सीआरपीएफ पुलिस को दूर से ही निशाना बनाते हुए कई राउंड फायरिंग की. इसके बाद आतंकवादी भाग गए. हालांकि इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ.

सुरक्षाबलों को निशाना बनाने की साजिश कर रहे हैं आतंकी संगठन

आपको बता दें कि आतंकी संगठन लगातार सुरक्षाबलों को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं. सुरक्षा बलों ने सोमवार को घाटी में आतंकियों की दो साजिशों को नाकाम कर दिया. श्रीनगर नगर निगम के बाहर और त्राल में लगाए गए आईईडी बरामद किए गए और आतंकवादी योजना को विफल करने में सफल रहे. सुरक्षा बलों ने दोनों जगहों पर तलाशी अभियान चलाया, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला.

ये भी पढ़े:आज G-7 के शिखर सम्मेलन को वर्चुअली संबोधित करेंगे PM Modi

आतंकियों ने त्राल के साइमो इलाके में सड़क किनारे आईईडी प्लांट लगाया था. आनन-फानन में सुरक्षा बलों ने इस सड़क पर वाहनों की आवाजाही रोक दी. पूरे इलाके की नाकेबंदी के बाद बम निरोधक दस्ते को मौके पर बुलाया गया. बम निरोधक दस्ते ने पांच से सात किलोग्राम वजनी आईईडी बरामद किया. जांच के बाद दस्ते ने इसे निष्क्रिय कर दिया. इस रास्ते से सुरक्षा बलों के वाहन गुजरते रहते हैं. आतंकियों ने इन वाहनों को उड़ाने की योजना बनाई थी, जिसे समय रहते नाकाम कर दिया गया.

{{read_more}}

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT