सुप्रीम कोर्ट ने अडाणी-हिंडनबर्ग मामले में बनाई एक्सपर्ट कमेटी, दो महीने में मांगी रिपोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच में पहले से जुटी SEBI को दो महीने में जांच पूरी करने और रिपोर्ट दाखिल करने को भी कहा है.

  • 420
  • 0

सुप्रीम कोर्ट ने अडानी- हिंडनबर्ग मामले में कमेटी का गठन किया है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत करते हुए गौतम अदाणी ने कहा है कि इससे धीरे-धीरे सभी चीजों से पर्दा उठ जाएगा. जीत सत्य की जीत होगी. सुप्रीम कोर्ट ने विशेषज्ञ समिति का गठन किया है और सेबी को इस बात की जांच करने का निर्देश दिया है कि क्या सेबी के नियमों का उल्लंघन और स्टॉक की कीमतों में हेरफेर किया गया था. कोर्ट की ओर से बनाई गई 6 सदस्यीय कमेटी की अध्यक्ष पूर्व जज अभय मनोहर सप्रे होंगे. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच में पहले से जुटी SEBI को दो महीने में जांच पूरी करने और रिपोर्ट दाखिल करने को भी कहा है.

अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी ट्वीट कर कहा कि अडानी ग्रुप सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत करता है. सत्य की जीत होगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सेबी (भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड) को अडानी-हिंडनबर्ग मामले में अपनी जांच पूरी करने और दो महीने के भीतर रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया है.

सभी पहलुओं पर से होगी जांच 

सीजेआई डी वाई चंद्रचूड़ के नेतृत्व वाली पीठ ने कहा कि मामले के विभिन्न अन्य पहलुओं की नियामक संस्था द्वारा जांच की जानी चाहिए. खंडपीठ ने कहा, “सेबी को जांच करनी चाहिए कि क्या स्टॉक प्राइसिंग का उल्लंघन और हेरफेर किया गया है.”

पिछले महीने से हो रही है अडानी समूह में गिरावट 

पिछले एक महीने में अदाणी समूह की कंपनियों के शेयर की कीमतों में काफी गिरावट आई है.  24 जनवरी की हिंडनबर्ग रिपोर्ट में समूह द्वारा स्टॉक में हेरफेर और धोखाधड़ी का आरोप लगाया गया. अदाणी समूह ने पलटवार करते हुए कहा है कि हिंडनबर्ग की रिपोर्ट झूठ के अलावा कुछ नहीं थी.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT