सिद्धार्थ शुक्ला की हार्टअटैक से मौत :जानिए क्यों आता है हार्टअटैक, लक्षण और उपचार

कोरोना से हुई मौत को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है. एक शोध के अनुसार 25 फीसदी से ज्यादा मरीजों की मौत ब्लड क्लॉटिंग की वजह से हार्ट अटैक से हुई है.

  • 10946
  • 0

छोटे पर्दे के मशहूर एक्टर और रिएलिटी शो बिग बॉस सीजन 13 के विनर रहे सिद्धार्थ शुक्ला अब इस दुनिया में नहीं रहे. सिद्धार्थ शुक्ला का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ है.  अब बताते हैं कि आखिर क्यों पड़ता है दिल का दौरा और क्या है दिल के दौरे का कोरोना मरीजों से संबंध. कोरोना संक्रमण में हज़ारो लोग अपनी जान गवा चुके है. अगर हम कोरोना संक्रमितों की मौत के आंकड़ों पर गौर करें तो कोरोना काल में 25 फीसदी से ज़्यादा मरीजों की मौत हार्टअटैक से हुई है. 


हार्टअटैक के कारण 

हार्टअटैक आने का सबसे अहम कारण ब्लड क्लॉटिंग (blood clotting) यानि खून में थक्के जमना है. ब्लड क्लॉटिंग से किसी को भी हार्टअटैक या लकवा मार सकता है. सर्दी के मौसम में हार्टअटैक की संभावना अधिक होती है. चिकित्सकों के अनुसार ठंड के मौसम में शरीर की गर्मी को बचाए रखने के लिए नसें (Veins) सिकुड़ती है, इस क्रिया से ब्लड प्रेशर बढ़ता है. ऐसे में हार्टअटैक का खतरा और बढ़ जाता है. ठंड के मौसम में लोग पानी कम पीते हैं, मीठे और चाय पकोड़ी का सेवन अधिक करते हैं जिससे शरीर में कॉलेस्ट्रॉल बढ़ जाता है.जीवन में तनाव, खाने की गलत आदत, कंप्यूटर पर देर तक काम करना, स्मोकिंग, तंबाकू, शराब का सेवन, वायु प्रदुषण  इन सभी कारणों की वजह से भी ब्लड क्लॉटिंग होती है और हार्टअटैक की अधिक संभावना होती है. 


क्या है हार्ट अटैक के लक्षण 

अगर आपको सीढ़ियां चढ़ते समय सीने में दर्द हो या सांस फूल रही हो, तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें. यदि आप डॉक्टर से नहीं मिल पा रहे तो उस काम को करना तुरंत बंद करदें. सीने में बाईं और दर्द व पसीना आना भी, उल्टी जैसा मन, शरीर में बेचैनी ये सभी हार्टअटैक के लक्षण है. ऐसे में तुरंत अस्पताल में जाकर दिखाना चाहिए.


ऐसे करें बचाव

कोरोना काल में लोगों का घूमना-फिरना काफी कम हो गया है, जिसकी वजह से ब्लड क्लॉटिंग का खतरा ज़्यादा बढ़ जाता है, इसलिए हमेशा फिजिकल मूवमेंट जारी रखनी चाहिए और हल्की फुल्की एक्सरसाइज करनी चाहिए. इन सबके साथ कोरोना के गंभीर मरीजों को डॉक्टर की सलाह से कुछ दिनों तक खून पतला करने की दवाई भी लेनी चाहिए. अगर आप ठंड के मौसम में सुबह टहलने जा रहे हैं तो गरम कपड़े पहन  कर ही बाहर निकलें. शरीर में गर्मी बनाए रखने के लिए मल्टीपल लेयर में कपड़े, हाथों में दस्ताने और कैप पहने जिससे शरीर में गर्मी बनी रहे. घूमते समय काफी तेजी से न दौड़े. ऑयली फ़ूड को थोड़े दिन अवॉयड(avoid ) करे. धूम्रपान और शराब की आदत को  जल्दी से छोड़ दें.

चाय में चीनी की मात्रा को नियंत्रित रखें ताकि शरीर में शुगर कंट्रोल में रहे. बाहर से घर पहुंचने पर ठंडा पानी न पिएं, गर्म पानी का सेवन करें ये हार्ट के लिए काफी फायदेमंद है. समय-समय पर पानी पिएं, पानी न पीने से खून गाढ़ा हो जाता है, जो कई बार हार्टअटैक का कारण बनता है.





RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT