कर्नाटक में हुआ दर्दनाक हादसा, डायनामाइट विस्फोट के कारण हुई 8 लोगों की मौत, कई घायल

एक चश्मदीद ने बताया कि विस्फोट इतना जोरदार था कि खिड़की के शीशे चकनाचूर हो गए, इसके अलावा कई घरों और सड़कों पर दरारें भी आ गईं।

  • 1758
  • 0

शुक्रवार के दिन कर्नाटक में अचानक से एक दर्दनांक हादसा हो गया। मिली जानकारी के मुताबिक करीब 8 लोगों की जान चली गयी। हादसे की जानकारी देते हुए जिला कलेक्टर केबी शिवकुमार ने बताया कि शुक्रवार को कर्नाटक के जिले के हुनासोडु गांव में एक रेलवे क्रशर साइट पर एक डायनामाइट विस्फोट हो गया जिसमे कम से कम आठ लोग मारे गए। पुलिस का कहना है कि गांव अब्बालगेरे के पास हुनसंडी में खदान में विस्फोट की संभावना से इंकार नहीं किया गया है क्योंकि कुछ डायनामाइट की छड़ें अभी भी बची हुई हैं। जिस पर काबू पाने के लिए बम निरोधक दस्ते को बुलाया गया है और इस पूरे इलाके को सील कर दिया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, शिवमोग्गा में न केवल शावकों को, बल्कि पड़ोसी चिकमंगलूरु और दावणगेरे जिलों में भी शॉकवेव्स भेजकर रात 10.30 बजे के आसपास बजरी और बोल्डर क्रशिंग सुविधा के पास भारी विस्फोट हुआ। एक चश्मदीद ने बताया कि विस्फोट इतना जोरदार था कि खिड़की के शीशे चकनाचूर हो गए, इसके अलावा कई घरों और सड़कों पर दरारें भी आ गईं।

इस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर के जरिए से विस्फोट के कारण हुई पीड़ितों की मौत पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "शिवमोग्गा में जानमाल के नुकसान से आहत शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना। राज्य सरकार प्रभावितों को हर संभव सहायता प्रदान कर रही है,"।

विस्फोट से होने वाले कंपन को पहले गलती से भूकंप का आना माना जा रहा था, इस बात की पुष्टि के लिए भूवैज्ञानिकों से संपर्क किया गया था, लेकिन उन्होंने  अपनी किसी भी लैब में रिकॉर्डिंग झटके से  इनकार कर दिया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "भूकंप नहीं आया था। लेकिन ग्रामीण पुलिस स्टेशन की सीमा के तहत शिवमोग्गा के बाहरी इलाके हुन्सुर में एक विस्फोट हुआ।"

आपको बता दें कि इसी तरह पिछले साल मई में हुई एक ज़ोरदार आवाज़ ने पूरे बेंगलुरु को हिला कर रख दिया था जिसके होने का कारण रक्षा विभाग द्वारा किया जा रहा परीक्षण उड़ान बताया गया था। 

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT