कोरोना का ऐसा डर कि पोते को संक्रमण से बचाने के लिये दादा-दादी ने की आत्महत्या

कोरोना के कारण लोग अपने परिजनों को खो रहे हैं, लोग इससे इतना डर रहे हैं कि आत्महत्या तक कर ले रहे हैं.

  • 4174
  • 0

Corona Case: कोराना एक भयावह बीमारी बनता जा रहा है. लोग इससे इतना डर रहे हैं कि आत्महत्या तक कर ले रहे हैं. राजस्थान के कोटा से एक बेहद चौंकाने वाली ख़बर सामने आई है. ऐसी ख़बर जिसे पढ़ने के बाद आपकी रूह भी कांप जाएगी. कोटा में एक वृद्ध दंपति ने अपने पोते को बचाने के लिए ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली ताकि उनका पोता कोरोना पॉजीटिव न हो. जानकारी के मुताबिक दोनों कोरोना पॉजिटिव थे.


घटना की जानकारी मिलने के बाद पूरे प्रदेश (Kota Suicided News) में कोहराम मच गया. स्थानीय पुलिस उपाधीक्षक भगवत सिंह हिंगड़ ने जानकारी दी कि ये घटना रविवार को हुई है. जानकारी के मुताबिक कोटा के रेलवे कॉलोनी इलाके में हीरालाल बैरवा (75) और उनकी पत्नी शांति बैरवा (75) रहते थे, दोनों की एक दिन पहले ही कोरोना रिपोर्ट पोजिटिव आई थी. इसके चलते वे दोनों तनाव में चल रहे थे. उन्हें घर पर ही क्वॉरेंटाइन किया गया था. लेकिन दोनों को इस बात की चिंता सता रही थी कि कहीं उनके पोते रोहित को उनसे संक्रमण का खतरा नहीं हो जाये. ये डर इतना बढ़ गया कि उनदोनों ने आत्महत्या करने का मन बना लिया.


8 साल पहले बेटे को खो दिया था इस दंपति ने

पुलिस की जांच में जो बातें सामने आईं कि इस दंपति ने 8 साल पहले अपने जवान बेटे को खो दिया था. उसके बाद वे अब वे पोते को खोना नहीं चाहते थे. इसलिए उनदोनों ने ऐसा कदम उठाया.

कोरोना की चपेट में है कोटा

राजस्थान  में कोरोना का असर बढ़ रहा है, कोटा में भी बहुत मामले आ रहे हैं. कोटा में पहली लहर से अब तक करीब 600 पुलिसकर्मी और पुलिस के अधिकारी भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. शहर के अस्पताल कोरोना पीड़ितों से भरे हुये हैं.

कोरोना के कारण लोग अपने परिजनों को खो रहे हैं, लोगों को दुख और तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में हम आपसे निवेदन करते हैं कि आप अपना ख्याल खुद रखें. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, मास्क का प्रयोग करें. ज़रूरत पड़ने पर ही आप घर से बाहर निकलें.


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT
©2023 Instafeed