भारतीय लोग तालिबानियों से भी ज़्यादा खतरनाक : मुनव्वर राना

तालिबान को लेकर भारत में धर्मगुरु और मुस्लिम नेताओं के लगातार अजीब बयान आ रहे हैं. अब मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana Support Taliban) भी तालिबान के हमदर्द बन बैठे हैं.

  • 939
  • 0

देश में तालिबानियों के लिए सॉफ्ट कार्नर रखने वालो की तादाद धीरे धीरे बढ़ती जा रही है. सपा सांसद, AIMPLB प्रवक्ता और पूर्व मंत्री मौसना मसूद मदनी के बाद अब मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana) ने भी तालिबानियों का समर्थन किया है.  उनका कहना है की तालिबानी बुरे लोग नहीं है,हालात की वजह से ऐसे हो गए है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि तालिबानियों पर भरोसा किया जा सकता है. 

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात पर उन्होंने कहा कि तालिबानियों के साथ 20 साल तक जुल्म हुए है, जब बीज ही ऐसा बोया गया हो तो देवता कैसे पैदा होगा. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान हमेशा से अफगानिस्तान का दोस्त रहा है, वहा के लोगो को हिंदुस्तान से ख़ास लगाव है इसलिए उन्हें यहाँ आना पसंद है.


उन्होंने अफगानिस्तान में हो रहे औरतो के जुर्म के बारे में कोई बात नहीं की.  इसके साथ उन्होंने कहा की तालिबानी कोई पागल नहीं है, अगर  हिंदुस्तान ने अफगानिस्तान में कोई विकास किया है तो वह उसे बर्बाद नहीं करेंगे. उन्होंने तो यह तक कह किया कि मौजूदा अफगानिस्तान के हालात से भारत को सिर्फ फायदा होगा, अफगानिस्तान पर भरोसा किया जा सकता है. 


मुनव्वर राना का यह भी कहना है कि हिंदुस्तान को पाकिस्तान से डरना चाहिए न कि अफगानिस्तान से, तालिबानियों का कश्मीर से कोई लेना देना नहीं है.  उन्होंने तालिबानियों कि तुलना महर्षि वाल्मीकि से भी कर डाली, उन्होंने कहा कि वाल्मीकि जी पहले क्या थे और बाद में क्या हो गए. तालिबानी भी बदले चुके है, अब पहले जैसा माहोल बिल्कुल नहीं है. 


RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT