अब बच्चों को लग सकेगी कोरोना वैक्सीन, सरकार जल्द जारी करेगी गाइडलाइन

देशभर में कोविड-19 टीकाकरण का दौर चल रहा है. तीसरी लहर की भी आशंका जताई जा रही है, लेकिन इन सबके बीच बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है.

  • 716
  • 0

देशभर में कोविड-19 टीकाकरण का दौर चल रहा है. तीसरी लहर की भी आशंका जताई जा रही है, लेकिन इन सबके बीच बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने बच्चों को दी जाने वाली कोवैक्सीन वैक्सीन को मंजूरी दे दी है इस फैसले के बाद देशभर के अभिभावकों ने राहत की सांस ली है.

 ये भी पढ़े: Delhi: पाकिस्तानी आतंकी को किया गिरफ्तार, एके-47 और हैंड ग्रेनेड सहित कई चीजें हुई बरामद

बच्चों को मिलेगी कोरोना की वैक्सीन

DGCI ने देश में 2 साल से 18 साल तक के बच्चों को वैक्सीन देने को हरी झंडी दे दी है. बच्चों को कोवैक्सीन की दो खुराक दी जाएगी. भारत सरकार की ओर से भी जल्द ही बच्चों की कोरोना वैक्सीन को लेकर गाइडलाइंस जारी की जा सकती है. जिसमें वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया, वैक्सीन लगाने की प्राथमिकता, दो डोज के बीच गैप आदि समेत तमाम जानकारियां विस्तार से दी जाएंगी.

ये भी पढ़े:Lakhimpur Kheri violence: मृत किसानों के लिए अंतिम अरदास आज, प्रियंका होंगी शामिल

छोटे बच्चों को वैक्सीन देने वाला दूसरा देश

भारत दूसरा देश है जहां ऐसे छोटे बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन को हरी झंडी मिल गई है. इससे पहले क्यूबा ने 2 से 11 साल के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू किया था. सितंबर की शुरुआत में, क्यूबा में बच्चों का टीकाकरण शुरू हो गया है. क्यूबा ने कोरोना के लिए दो टीके बनाए हैं और उनका उपयोग कर रहा है हालांकि क्यूबा की कोरोना वैक्सीन को विश्व स्वास्थ्य संगठन की मंजूरी नहीं मिली है. इससे पहले अमेरिका, कनाडा, इजराइल समेत दुनिया के कई देशों में 12 साल से ऊपर के बच्चों को कोरोना की वैक्सीन दी जा रही है. जबकि यूरोपियन यूनियन से लेकर यूके जैसे कई देशों ने इसे मंजूरी दे दी है, लेकिन क्यूबा ने इस मामले में सबको पीछे छोड़ दिया और अब भारत 2 साल से 18 साल के आयु वर्ग के लिए टीकाकरण को मंजूरी देने वाला दूसरा देश बन गया है.

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT