एक दिन में महज 100 लोगों को ही लग पाएगी कोरोना की वैक्सीन, इस वजह से सरकार ने बनाई ऐसी योजना

प्रत्येक टीकाकरण स्थल पर पांच टीकाकरण अधिकारीयों को रखा जाएगा, जिनमें एक गार्ड, और तीन कमरे, प्रतीक्षा, टीकाकरण और एक-एक अवलोकन करने के लिए रखे जायेंगे।

  • 1437
  • 0

दुनियाभर में जैसे-जैसे कोरोना की रफ़्तार बढ़ रही है वैसे ही वैक्सीन और दवाई की खोज भी तेज़ है। हर किसी की निगाहें इसी बात पर टिकी हुई है कि कब इस खतरनांक महामारी से निजात मिलेगा। कब इससे मुकाबला करने के लिए कोई वैक्सीन आएगी। जिसके लिए अब सरकार लगातार एलान कर रही है की जल्द से जल्द वैक्सीन आजाएगी। कई वैक्सीन का क्लिनिकल परिक्षण तीसरे चरण में है। साथ ही सरकार ने ये योजना भी बना ली है कि कैसे वैक्सीन को लोगों तक पहुंचाया जाएगा। कोविड -19 टीकाकरण के लिए सरकार की योजनाओं से संकेत मिलता है कि प्रत्येक साइट प्रति दिन केवल100 एंटी-कोरोना ही शॉट्स दे पाएगी।  कोविड- टीकाकरण की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए राज्य स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए एक एसओपी के आधार पर बुनियादी ढाँचा तैयार कर रहे हैं।

गुरुवार को राज्यों के साथ साझा किए गए एसओपी के अनुसार, प्रत्येक टीकाकरण स्थल पर पांच टीकाकरण अधिकारीयों को रखा जाएगा, जिनमें एक गार्ड, और तीन कमरे, प्रतीक्षा, टीकाकरण और एक-एक अवलोकन करने के लिए रखे जायेंगे। 

प्रत्येक व्यक्ति को जो टीका प्राप्त होता है, उसे यूईएफआई की जांच के लिए 30 मिनट के लिए अनिवार्य रूप से निगरानी में रखा जाएगा और टीका लगने के बाद यदि किसी को कोई परेशानी होती है या गंभीर रोग के लक्षण विकसित होते हैं तो मरीज़ों को राज्य द्वारा चिह्नित किए गए अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

मंत्रालय द्वारा आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला में शामिल होने वाले टीकाकरण अधिकारियों में से एक हैं डॉ रजनी एन। उनका कहना है  “टीकाकरण के लिए तीन कमरे होने का निर्णय सामाजिक दूरियों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए किया गया है। जबकि टीकाकरण वाले कमरे में हर समय केवल एक ही व्यक्ति जा सकेगा, वेटिंग और अवलोकन कक्ष में भी कई लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। "

उन्होंने कहा कि सामाजिक गड़बड़ी की वजह से यह सीमा तय की गई है कि हर घंटे केवल 13-14 लोगों को ही टीका लगाया जाएगा। "यह अभी के लिए तय किया गया है, कि प्रति दिन 100 से अधिक टीकाकरण नहीं किया जाएगा।"

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT