देश में अब तेजी से बनेगी स्पुतनिक वैक्सीन, उत्पादन के लिए डीसीजीआई से मांगी मंजूरी

रूस के वैक्सीन स्पुतनिक-वी का भी अब सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा उत्पादन किया जाएगा, जिसमें सीरम सितंबर में स्पुतनिक-वी का उत्पादन शुरू करेगा.

  • 1541
  • 0

कोरोना टीकाकरण के मिशन में तेजी लाने के लिए मंगलवार को एक अहम कदम उठाया गया है. रूस के वैक्सीन स्पुतनिक-वी का भी अब सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा उत्पादन किया जाएगा, जिसमें सीरम सितंबर में स्पुतनिक-वी का उत्पादन शुरू करेगा. रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के बीच मंगलवार को एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए. आपको बता दें कि सितंबर में स्पुतनिक वी को डब्ल्यूएचओ की मंजूरी भी मिल सकती है.

स्पुतनिक का प्रोडक्शन इस साल सितंबर में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में शुरू होगा। दोनों पक्षों के बीच हर साल 30 करोड़ (300 मिलियन) वैक्सीन की खुराक बनाने का समझौता हुआ है. खास बात यह है कि दोनों पक्षों के बीच तकनीकी हस्तांतरण को लेकर मामला सुलझ गया है. सीरम को अब तक सेल, वेक्टर सैंपल मिले हैं. 

आपको बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया इस समय भारत में वैक्सीन का सबसे बड़ा निर्माता है. सीरम इंस्टीट्यूट वर्तमान में पुणे में अपने कारखाने में कोवैक्स, कोविशील्ड का निर्माण कर रहा है. इसके अलावा यूके में भी कोडजेनिक्स का ट्रायल किया जा रहा है. 

RELATED ARTICLE

LEAVE A REPLY

POST COMMENT